मधुबनी : 22 लाख रुपये गबन का आरोपी रिटायर्ड शाखा प्रबंधक हुआ गिरफ्तार!!

Madhubani-gramin-bank-scam
मधुबनी, बाबूबरही में 22 लाख रुपये गबन के आरोपी उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक के रिटायर्ड शाखा प्रबंधक भवानीपुर (पंडौल) निवासी रजनीकांत मिश्रा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मिश्रा की गिरफ्तारी उनके आवास से शुक्रवार की रात समकालीन अभियान के तहत हुई है। उसे न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। इसकी पुष्टि बाबूबरही के थानाध्यक्ष अशोक कुमार ने की है। उन्होंने बताया कि आरोपी के विरूद्ध गबन व धोखाधड़ी की जो मामला दर्ज की गई थी वह जांच में सही पाई गई। वर्ष 2015 के 6 जनवरी को भूपट्टी के तत्कालीन शाखा प्रबंधक शरद भगत ने थाने में मिश्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। इसकी जांच को लेकर अनुसंधान कर रही पुलिस ने मुजफ्फरपुर क्षेत्रीय कार्यालय से मांग की थी। क्षेत्रीय कार्यालय ने जांच के चार निम्न बिंदुओं पर गहन जांच की। भूपट्टी के अलावा रामबाग (मधेपुर) शाखा के अलग अलग मामलों की जांच की गई। सारे मामले ऋण वितरण में अनियमितता व ऋण राशि के गबन से जुड़े हैं। मिश्रा के विरूद्ध क्षेत्रीय कार्यालय को काफी शिकायतें मिली थी। वे 30 जून 2012 को प्रधान कार्यालय झंझारपुर से रिटायर्ड हुए थे। क्षेत्रीय कार्यालय के प्रबंधक अनुज कुमार चांद ने इस मामले की ऑडिट जांच कराई जिसमें रामबाग शाखा से 45 ऋण में डेढ़ लाख रुपये, भूपट्टी शाखा से 26 एलटीई कृषि ऋण में 1,28,974 रुपये, 335 केसीसी ऋण में प्रति ऋण 32267 रुपये, 10 पावर टिलर अनुदान में 6 लाख रुपये, 12 पावर टिलर ट्रॉली के अनुदान में 6 लाख 48 हजार रुपये कुल 14 लाख 9 हजार 241 रुपये की अनियमितता पाई गई। इसके अलावा मिश्रा के कार्यकाल में ऋण वितरण के अलग अलग मदों में 29, 09, 643 रुपये की निकासी की गई। उनमें से 22 लाख 7 हजार 498 रुपये की अनियमितता बाहर आई।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...