सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 15 जनवरी

कलेक्टर ने किया विषेष कोचिंग क्लासेस का शुभारंभ

sehore-news
मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना - 75 प्रतिषत लाओ भविष्य बनाओ को अधिकतम छात्र हित में क्रियान्वित किये जाने हेतु स्थानीय टाॅउन हाॅल परिसर स्थित ई-लाईब्रेरी में कक्षा 12वी के विज्ञान संकाय के छात्रों के लिए 15 जनवरी, 2018 को विषेष कोचिंग क्लासेस का सीहोर विधायक श्री सुदेष राय के मुख्य आतिथ्य में कलेक्टर श्री तरूण कुमार पिथोड़े द्वारा शुभारंभ किया गया। यह कोचिंग स्थानीय विद्यालयों के छात्र-छात्राओं के लिए निःषुल्क होगी। बच्चों के मार्गदर्षन के लिए श्रेष्ठ षिक्षकों का चयन किया गया है। मार्ग दर्षक के रूप में कलेक्टर श्री तरूण कुमार पिथोडे, डी.पी.सी एवं अन्य प्रषासनिक अधिकारी समय-समय पर उपस्थित होंगे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री सुदेष राय ने कहा गया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान की महत्वकांक्षी योजना के तहत आयोजित की जा रही कोचिंग क्लासेस का भरपूर लाभ लें और शतप्रतिषत सफलता हासिल करें। उन्होने इस कार्यक्रम को संचालित करने के लिए कलेक्टर द्वारा किये गये प्रयासों की भी सराहना की। इस अवसर पर कलेक्टर श्री तरूण कुमार पिथोडे ने अपने सारगर्भित एवं प्रेरणादायी उद्बोधन में कहा कि सफलता की कोई सीमा नहीं होती तथा कोई भी असफलता अंतिम नहीं होती। इस अवसर पर पी.एस.सी में वर्तमान चयनित डिप्टी कलेक्टर निषा बांगरे ने भी उपस्थित छात्र-छात्राओं को सफलता के सूत्र बताये तथा छात्रों द्वारा पूछे गये प्रष्नों के उत्तर दिये। कार्यक्रम का प्रस्तुतीकरण एवं संचालन डी.पी.सी अनिल श्रीवास्तव द्वारा किया गया। कार्यक्रम में उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य श्री आर.के बांगरे एवं कोचिंग के अध्यापन हेतु चयनित व्याख्याता उपस्थित थे। 

उत्साही छात्रों की बुलौआ टोली करेगी  पल्स पोलियो अभियान का घर-घर प्रसार-प्रचार
  • पल्स पोलियो अभियान से संबंधित बैठक में कलेक्टर ने दिए निर्देश

आगामी 28 जनवरी 2018 से प्रारंभ होने वाले पल्स अभियान सफलता के लिए अंतरविभागीय समन्वय तथा जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक कलेक्टर एवं अध्यक्ष जिला स्वास्थ्य समिति श्री तरूण कुमार पिथोडे़ की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में कलेक्टर द्वारा अन्य सहयोगी विभागों के अधिकारियों को कई महत्वपूर्ण दिशा निर्देश ने दिए। जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया गया कि स्कूल में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं की बुलौआ टोली द्वारा घर-घर जाकर 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों को बुलाकर बुथ के लिए बुलाकर दो बूंद जिंदगी की पिलाने के लिए प्रेरित करेंगे। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.डीआर अहिरवार, जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री संजय प्रताप सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी श्री एसपी त्रिपाठी, विश्व स्वास्थ्य संगठन के एसएमओ डाॅ.एस.एम.जोशी, सिविल सर्जन डाॅ.एए कुरैशी, जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ.एम.चंदेल, जिला स्वास्थ्य अधिकारी टीआर उईके, जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे,जिला आदिम जाति कल्याण अधिकारी,जिला परिवहन अधिकारी, एसबीआईकी शाखा प्रबंधक श्रीमती गजभिए, सहायक संचालक जनसंपर्क श्री आशीष शर्मा, डीपीएम श्री धीरेन्द्र आर्य, जिला लेखा अधिकारी श्री रमाकांत द्विवेदी डिप्टी एमईआईओ सुश्री उषा अवस्थी, जिला मीडिया समन्वयक श्री शैलेश कुमार, समस्त बीएमओ डाॅ.बीबी शर्मा,डाॅ.एचपी ंसिंह, डाॅ.मनीष सारस्वत, डाॅ.प्रवीर गुप्ता, रेहटी सीएचसी प्रभारी डाॅ.मेहरबात सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.डीआर अहिरवार ने बताया कि 28 से 30 जनवरी 2018 तक पल्स पोलियो अभियान का प्रथम चरण संचालित किया जाएगा तथा 28 जनवरी को बूथ स्तर पर तथा दो दिवस 29 एवं 30 जनवरी को घर-घर जाकर दो बूंद जिंदगी की पिलाई जाएगी। आज आयोजित जिला टास्क फोर्स की बैठक में कलेक्टर श्री तरूण कुमार पिथोडे़ ने निर्देशित किया कि पोलियो बूथ हेतु शालाएं रविवार को भी शुरू रखी जाएगी जिससे 0 से 5 साल तक का कोई भी बच्चा पोलियो की खुराक पीने से छूट ना पाए। जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि ग्राम स्तर पर आयोजित सत्रों में बच्चों की शत प्रतिशत उपस्थिति आंगनबाडी कार्यकर्ता एवं सहायिका सुनिश्चित करेंगी। समस्त परियोजना अधिकारियों द्वारा सर्वेक्षण एवं तीनों दिवसों में भ्रमण कर सपोर्टिव सुपरविजन किया जाएगा। जिला परिवहन अधिकारी सभी बसों एवं टेम्पों पर पल्स पोलियो अभियान के पोस्टर चस्पा कराया जाना सुनिश्चित करेंगे तथा सभी वाहन चालकों को निर्देशित करें कि वाहन में सभी 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने के बाद ही वाहन स्टेण्ड से बाहर ले जाएं। कलेक्टर द्वारा निर्देशित किया गया कि सभी एसडीएम की अध्यक्षता में तहसील एवं ब्लॅाक स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक तत्काल कराई जाएं तथा बैठक में माइक्रो प्लान प्रस्तुत किया जाए। बैठक में जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ.चंदेल ने जानकारी दी कि पल्स पोलियो के प्रथम चरण की सफलता के लिए 1 लाख 91 हजार 781 बच्चों को दो बूंूद जिंदगी की पिलाने का  लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिसके लिए ए,बी एवं सी स्तर के कुल 1615 बूथ बनाए जा रहे हैं।  43 मोबाइल टीमें गठित की गई है वहीं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा.अहिरवार ने बैठक मंे बताया कि ट्रांजिट टीमों कुल संख्या 49 है। 3432 वैक्सीनेटर एवं 218 सुपरवाईजर्स एवं 81 वाहनों की सेवाएं पल्स पोलियो अभियान की शत प्रतिशत सफलता के लिए ली जाएगी। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...