झारखंड में लड़कियों की मदद को आगे आया एआईएफएफ - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 2 अगस्त 2013

झारखंड में लड़कियों की मदद को आगे आया एआईएफएफ


स्पेन में आयोजित एक फुटबाल टूर्नामेंट में झारखंड की लड़कियों के शानदार प्रदर्शन से प्रभावित होकर अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) ने देश के आदिवासी इलाकों से प्रतिभा तलाशने का फैसला किया है। रांची की 18 लड़कियों ने विपरीत परिस्थितियों में स्पेन में आयोजित अंडर-14 टूर्नामेंट में कांस्य पदक जीता। ये लड़कियां अमेरिकी नागरिक फ्रांज गाल्सटर द्वारा चलाए जा रहे एनजीओ युवा इंडिया का प्रतिनिधित्व कर रही थीं। ऐसा कहा जा रहा है कि जब ये लड़कियां अपने पासपोर्ट के लिए जन्म प्रमाणपत्र लेने पंचायत दफ्तर पहुंचीं तो उन्हें पीटा गया, झाड़ू लगवाया गया और उनकी बेइज्जती की गई।


एआईएफएफ प्रमुख प्रफुल्ल पटेल ने कहा है कि महासंघ की महिला समिति की प्रमुख सारा पायलट ने गुरुवार को इस मामले पर विचार विमर्श किया और झारखंड की इन लड़कियों की मदद के साथ-साथ आदिवासी इलाकों में प्रतिभा तलाशने की बात कही। सारा पायलट केंद्रीय मंत्री सचिन पायलट की पत्नी हैं। वह महिलाओं के उत्थान के लिए सेक्विन (सेंटर फॉर इक्वलिटी एंड इन्क्लूजन) नाम से एक एनजीओ चलाती हैं। पटेल ने कहा, "हमारी महिला समिति इस मुद्दे पर पहले ही विचार कर चुकी है और अब हमने आदिवासी इलाकों में प्रतिभाशाली लड़कियों की मदद करने का फैसला किया है।"

कोई टिप्पणी नहीं: