नोट और चंडीगढ़ के मामले पर राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 10 अगस्त 2017

नोट और चंडीगढ़ के मामले पर राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित

oppn-raises-uproar-in-rs-on-currency-notes-of-diff-sizes-chandigarh-stalking-incident-house-adjour
नयी दिल्ली 09 अगस्त, पांच सौ रुपये के विभिन्न आकारों के नोट छापने और चंडीगढ़ में एक नेता के बेटे द्वारा एक लड़की का पीछा करने के मामले को लेकर कांग्रेस ने आज राज्यसभा में भारी हंगामा किया जिसके कारण सदन की कार्यवाही दो बार के स्थगन के बाद तीसरी बार कल तक लिए स्थगित करनी पड़ी। कांग्रेस के सदस्यों ने पांच सौ रुपए के विभिन्न आकारों के नोटों के बाजार में प्रचलन का मुद्दा उठाते हुए भोजनावकाश के बाद सदन में शोर शराबा किया जिसके कारण कार्यवाही 15 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी। कार्यवाही दोबारा शुरू होेने पर कांग्रेस की कुमारी सैलजा, अंबिका सोनी,रजनी पाटिल तथा अन्य सदस्यों ने चंडीगढ़ में एक नेता के पुत्र द्वारा एक लड़की का पीछा किये जाने का मामला उठाया और नारेबाजी करते हुए सभापति के आसन के समक्ष आ गए। सदन में कांग्रेस के उपनेता आनंद शर्मा ने कहा कि चंड़ीगढ़ केंद्र शासित प्रदेश है और वहां कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है। इसलिए केंद्रीय गृह मंत्री को जवाब देना चाहिए। कांग्रेस सदस्यों ने कहा कि विभिन्न आकारों के नोटों के मामले पर सदन में चर्चा होनी चाहिए और सरकार को स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि सरकार चर्चा के लिए तैयार है लेकिन पहले बैंकिंग नियमन (संशोधन) विधेयक को पारित कर दिया जाये। उप सभापति पी जे कुरियन ने भी सदस्यों को यही सलाह दी लेकिन दोनों पक्षों के अपने अपने रूख पर अडे रहने से गतिरोध पैदा हो गया और विपक्ष के हंगामे के बीच उपसभापति ने लगभग साढ़े तीन बजे कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी।

एक टिप्पणी भेजें