बिहार : महेन्द्र सिंह शहादत दिवस पर किसान महासभा ने मनाया ‘धान खरीदो दिवस’ - Live Aaryaavart

Breaking

मंगलवार, 16 जनवरी 2018

बिहार : महेन्द्र सिंह शहादत दिवस पर किसान महासभा ने मनाया ‘धान खरीदो दिवस’

  •  जिला मुख्यालयों पर हुए कार्यक्रम, 20 जनवरी को पटना में होगा किसान मुक्ति सम्मेलन

dhaan-kharido-week-by-kisaan-mahasabha
पटना 16 जनवरी, नवम्बर 2017 में दिल्ली में आयोजित दो दिवसीय किसान संसद के संकल्प के तहत आज भाकपा-माले के पूर्व विधायक महेन्द्र सिंह की 13 वीं शहादत दिवस पर पूरे राज्य में अखिल भारतीय किसान महासभा द्वारा धान खरीदो दिवस का आयोजन किया गया. इसके तहत जिला/अनुमंडल/प्रखंड मुख्यालयों पर कार्यक्रम आयोजित किए गए.  किसान महासभा के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व विधायक राजाराम सिंह ने कहा है कि आज के कार्यक्रम के उपरांत आगामी 20 जनवरी को किसानों के ज्वलंत सवालों पर अवर अभियंता भवन में किसान मुक्ति सम्मेलन का भी आयोजन होगा. इसमें राष्ट्रीय स्तर के किसान नेता भाग लेंगे. काॅ. राजाराम सिंह ने यह भी कहा कि केंद्र व राज्य सरकारों की किसान विरोधी नीतियों के कारण आज खेत, खेती व किसान गहरे संकट में है. कई बार की घोषणाओं के बावजूद केंद व राज्य सकरार जिलों में अभी तक धान खरीद की शुरूआत नहीं कर सकी है. जबकि जनवरी का महीना बीत रहा है. उन्होंने आगे कहा कि बिहार के एक हिस्से में बाढ़ तो दूसरे हिस्से में सुखाड़ स्थायी परिघटना बने हुए हैं. इस वर्ष नीतीश सरकार बाढ़ प्रभावित 18 जिलों के लिए आवंटित फसल क्षति मुआवजा राशि की निकासी तक नहीं करवा सकी. किसान महासभा के आज के कार्यक्रम में धान खरीद की अविलंब शुरूआत करने, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के अनुसार फसल उत्पादन में लागत मूल्य से डेढ़ गुणा दाम देने, बटाईदार किसानों को हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध करवाने, बटाईदारों को पहचान पत्र देने, परिवार में कम से कम एक सदस्य को पैक्स का सदस्य बनाने, बटाई का रेट फिक्स करने, सिंचाई के लिए मुफ्त बिजली, बंद पड़े ट्यूबवेल चालू करने सोन नहर का आधुनिकी करण व तमाम नहरों की सफाई व पानी की गारंटी करने, धान में नमी व कागज की अनिवार्यता समाप्त करने, खाद खरीद व कल्याणकारी योजनाओं में आधार कार्ड की अनिवार्यता समाप्त करने, नीलगायों व आवारा पशुओं से फसल सुरक्षा की गारंटी करने आदि सवाल उठाये गए.

आज का कार्यक्रम पटना जिला के मनेर, बिहटा, नौबतपुर, फतुहा, मसौढ़ी, पालीगंज, दुल्हिन बाजार, अरवल जिले के अरवल, कुर्था, करपी, कलेर; गया जिला के गुरारू; औरंगाबाद में दाउदनगर अनुमंडल व अंबा ब्लाॅक; वैशाली जिला के पातेपुर; सिवान जिला मुख्यालय पर, नालंदा जिला के हिलसा में विरोध मार्च निकाला गया. बक्सर जिला के नवानगर, इटाड़ही व चैगाई ब्लाॅक पर धरना दिया गया. पटना जिला के नौबतपुर में जिला सचिव कृपानारायण सिंह, दुल्हिन बाजार में सुरेन्द्र यादव, कुर्था में राजेश्वरी यादव, दाउदनगर में जनार्दन सिंह व कामता यादव, पातेपुर में राज्य अध्यक्ष विशेश्वर यादव, सिवान में जिला सचिव जयनाथ यादव, गुरारू में उपेन्द्र यादव व अन्य ने संबोधित किया. संगठन के राज्य सचिव रामाधार सिंह ने कहा है कि यदि सरकार अविलंब धान खरीद की शुरूआत नहीं करती है, तो हम राज्यव्यापी आंदोलन की दिशा में बढ़ेंगे. 20 जनवरी को पटना के अवर अभियंता भवन में अखिल भारतीय संघर्ष समन्वय समिति की ओर से आयोजित किसान सम्मेलन को भी उन्होंने सफल बनाने का आह्वान किया.
एक टिप्पणी भेजें
Loading...