वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी होगी : राधामोहन - Live Aaryaavart

Breaking

शनिवार, 20 जनवरी 2018

वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी होगी : राधामोहन

farmer-income-double-till-2022-rdhamohan
बेगूसराय 20 जनवरी, केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने के लिए केन्द्र सरकार लगातार प्रयास कर रही है और पूरा विश्वास है कि वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी। श्री सिंह ने आज यहां देशरत्न डा.राजेन्द्र प्रसाद दुग्ध उत्पादक सहकारी सहयोग समिति रतनमन बभनगामा के 27 वें बोनस वितरण समारोह का उदघाटन करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का किसान और खेती पर विशेष ध्यान है । केन्द्र सरकार किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास भी कर रही है। विश्वास है कि इन प्रयासों के कारण वर्ष 2022 तक किसानों की निश्चित तौर पर दोगुनी हो जायेगी । केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि देश में दुग्ध उत्पादन में रिकार्ड वृद्धि हुई है, जिसका श्रेय दुधारू पशुओं की उत्पादकता बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रारंभ की गई विभिन्न योजनाओं को जाता है। देशी नस्लों के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए पहली बार राष्ट्रीय गौकुल मिशन की शुरुआत की गई है। उन्होंने कहा कि डेयरी किसान की आमदनी वर्ष 2011-14 की तुलना में वर्ष 2014-17 में 23.77 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

श्री सिंह ने कहा कि प्रति व्यक्ति दूध की उपलब्धता 2013-14 में 307 ग्राम से बढ़कर वर्ष 2016-17 में बढ़कर 355 ग्राम हो गयी है जो कि 15.6 प्रतिशत की वृद्धि है। उन्होंने कहा कि 1960 के दशक में करीब 17.22 मिलियन टन दूध का उत्पादन होता था जो बढ़कर 2016-17 में 165.4 मिलियन टन हो गया है। विशेषकर 2013-14 की तुलना में 2016-17 में 20.12 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। केन्द्रीय मंत्री ने बोनस वितरण कार्यक्रम के संयोजक अजय कुमार की मांग पर बेगूसराय में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए एक केंद्र खोले जाने की घोषणा की । इसके साथ ही पशु अस्पताल के लिए भी प्रयास करने की बात कही। इस दौरान मंत्री ने दुग्ध उत्पादक सहयोग समिति के किसानों के बीच बोनस का वितरण भी किया।  इससे पूर्व समारोह को संबोधित करते हुए सांसद डॉ. भोला सिंह ने कहा कि इस गांव के साथ-साथ आस-पास के अन्य गांव के लोगों की जीविका का मुख्य साधन कृषि है। उन्होंने कहा कि किसानों को यदि पर्याप्त सुविधाएं मिल जाये तो वह देश को ऊंचाई पर ले जा सकते हैं। विधान पार्षद रजनीश कुमार ने कहा कि यहां के किसानों के विकास में डेयरी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। इसे और आगे बढ़ाने की संभावना है। उन्होंने पढ़े-लिखे युवाओं से नई तकनीक से खेती करने का अनुरोध भी किया।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...