ईश्वर ने बनायी है भारत, इस्राइल की दोस्ती : नेतन्याहू - Live Aaryaavart

Breaking

शुक्रवार, 19 जनवरी 2018

ईश्वर ने बनायी है भारत, इस्राइल की दोस्ती : नेतन्याहू

god-make-india-israil-freindship-netanyahu
मुंबई, 18 जनवरी, प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने आज भारत- इस्राइल भागीदारी को ‘ईश्वर रचित’ करार दिया और कहा कि दोनों के रिश्ते मानवता, लोकतंत्र तथा आजादी के लिये प्यार के साझा मूल्यों पर आधारित हैं। उन्होंने यहां भारत-इस्राइल व्यापार शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनका गहरा व्यक्तिगत संबंध है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों की दोस्ती और मजबूत और प्रगाढ़ होगी तथा यह दोनों देशों के आम लोगों तक फैलेगी। चार दिन की भारत यात्रा के अंतिम चरण में नेतन्याहू ने कहा कि इस्राइल में भारत, उसकी जतना तथा संस्कृति के प्रति गहरा और भरोसेमंद लगाव तथा सम्मान है। उन्होंने कहा कि उनकी यह यात्रा शानदार रही। नेतन्याहू ने भारतीय कंपनियों से अपने देश में निवेश की अपील करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘इस धरातल पर हम दो सबसे पुरानी संस्कृति हैं। हमारे यहां लोकतांत्रिक व्यवस्था है। हम दोनों ही स्वाधीनता व मानवता के लिये प्यार साझा करते हैं। हम वाकई में सच्चे जोड़ीदार हैं। यह जोड़ी ईश्वर ने बनायी है।’’ नेतन्याहू ने कहा कि इस्राइल की अर्थव्यवस्था में व्यापक बदलाव तथा भारत में प्रधानमंत्री मोदी किए जा रहे कामों में बड़ी समानता है।

इस्राइली प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘मैंने जब मोदी से बात की, मैने पाया कि वह वही काम कर रहे हैं जो मैंने किया। वह अपना काम बखूबी कर रहे हैं। वह नवप्रवर्तन, उसे सरल बनाने को अच्छी तरह समझते हैं।’’ उन्होंने कहा कि प्रतिस्पर्धा के रास्ते में बाधा, अधिक नियमन को हटाना तथा निजी कंपनियों को सशक्त बनाना तात्कालिक वृद्धि के लिये महत्वपूर्ण है और उन्होंने यह सब किया है। नेतन्याहू ने कहा कि अर्थव्यवस्था की तरक्की में निजी क्षेत्र का काफी योगदान है और उसे कम, सरल और आसान कर के जरिये सशक्त बनाया जा सकता है। इस्राइली प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके प्रशासनिक उपायों से इस्राइल विश्व बैंक प्रतिस्पर्धी सूचकांक रैंकिंग में 12 पायदान की छलांग लगकार 15वें स्थान पर आ गया है। उन्होंने कहा कि उनके देश का वैश्विक प्रतिस्पर्धा के संदर्भ में शीर्ष 10 में आने का लक्ष्य है। नेतन्याहू ने नवप्रवर्तन के महत्व को रेखांकित किया। उन्होंने चुनिंदा भारतीय उद्योगपतियों के साथ सुबह के नाश्ते में इस विषय को उठाया और कहा कि कंपनियों के लिये बिना किसी बाधा के नवप्रर्वतन महत्वपूर्ण है। 

उन्होंने कहा, ‘‘हमें भारतीय तथा इस्राइली नागरिकों की प्रतिभा को साथ लाना है। उन्होंने इस संदर्भ में भारत और इस्राइल के बीच सीधी उड़ान सेवा का जिक्र किया और कहा यह उसी दिशा में प्रयास है। अहमदाबाद में आईक्रिएट नवप्रवर्तन केंद्र के दौरे का जिक्र करते हुए नेतन्याहू ने कहा कि जब उन्होंने वहां का कार्य देखा, उन्हें ऐसा लगा मानो वह इस्राइल में हैं उन्होंने 14 साल के एक किशोर द्वारा विकसित ड्रोन का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि मोदी भविष्य में इसे बड़े व्यापार में तब्दील कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि हालांकि इस्राइल कृषि क्षेत्र की मदद के लिये 30 केंद्रों की प्रतिबद्धता जतायी है, लेकिन वह 1,000 एजेंटों का नेटवर्क सृजित करना चाहेगा जो बेहतर उत्पादन के लिये जानकारी साझा करें। नेतन्याहू ने कहा,‘‘...भारत और इस्राइल भागीदारी के साथ जीत रहे हैं जो नई ऊंचाई पर पहुंच रही है। यह अभी शुरूआत हैं’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह शानदार, प्राचीन मित्रता की शुरूआत है और संभावनाएं असीम हैं।’’
एक टिप्पणी भेजें
Loading...