पद्मावत को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन - Live Aaryaavart

Breaking

बुधवार, 24 जनवरी 2018

पद्मावत को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन


padmavat-protest
नयी दिल्ली 24 जनवरी, उच्चतम न्यायालय से संजय लीला भंसाली की विवादास्पद फिल्म ‘पद्मावत’ को रिलीज करने की हरी झंडी मिलने के बावजूद देश भर में इसके खिलाफ हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं और जगह-जगह राष्ट्रीय राजमार्गों को अवरुद्ध किया जा रहा है। रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण और शाहिद कपूर अभिनीत यह फिल्म कल प्रदर्शित होगी, लेकिन इसके विरोध में प्रदर्शन लगातार उग्र हो रहे हैं। फिल्म को लेकर लगातार हो रहे विरोध को देखते हुए इसका नाम “पद्मावती” से बदलकर “पद्मावत” किया गया। इसके अलावा इसमें और भी काफी बदलाव किये गये लेकिन विशेषकर राजपूत समाज की ओर से इसका विरोध कम नहीं हो रहा है। फिल्म का मुखर विरोध कर रहे करणी सेना के अध्यक्ष लोकेंद्र सिंह कालवी ने उच्च्तम न्यायालय के फिल्म को रिलीज करने की अनुमति दिए जाने के बावजूद आज फिर कहा कि वह पद्मावत को रिलीज नहीं होने देंगे। उन्होंने सारे विवाद के लिए फिल्म निर्माता को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा,“ यह संजय लीला भंसाली का षडयंत्र है।” फिल्म के विरोध में उतरे करणी सेना के समर्थकों के हिंसा की बात स्वीकार करने के बावजूद श्री कालवी ने माफी नहीं मांगी । उन्होंने कहा “ रानी पद्मावती मेरी मां है . मैं उनसे माफी मांगूंगा।’ उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि हम उसी मांग पर अड़े हुए हैं कि यह फिल्म देश में रिलीज नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा, “ मैंने जो पहले कहा, मैं वहीं कहूंगा कि पद्मावत इस देश में रिलीज नहीं हाेनी चाहिए।” कालवी ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने देश से अंग्रेजों को भगाया था और हम पद्मावत को हटा रहे हैं। करणी सेना किसी भी कीमत पर पद्मावत को नहीं आने देगी। उन्होंने कहा कि पद्मावत को लेकर जो भी विवाद हुआ है उसमें किसी और का दोष नहीं है और इसके लिए पूरी तरह संजय लीला भंसाली जिम्मेदार हैं। उधर फिल्म को लेकर देशभर से विरोध प्रदर्शन के समाचार हैं। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के गुरुग्राम में पद्मावत के विरोधियों ने वजीरपुर पटौदी रोड को जाम कर दिया और आगजनी की। गुरुग्राम में कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिए रविवार तक धारा 144 लगाई गई है। पद्मावत के विरोधियों ने दिल्ली.जयपुर राजमार्ग को भी जाम कर दिया। जयपुर के वैशाली नगर में दिल्ली.जयपुर राजमार्ग को प्रदर्शनकारियों ने ब्लाक कर दिया। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में वेव सिनेमा के आसपास सुरक्षा मजबूत की गयी है। राज्य के मथुरा में भी पद्मावत को लेकर प्रदर्शनकारियों ने भूतेश्वर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन को रोक कर विरोध जताया। मध्यप्रदेश के भोपाल, ग्वालियर, इंदौर, उज्जैन, रतलाम और मुरैना में फिल्म विरोधियों का प्रदर्शन जारी है। मुंबई पुलिस पूरी तरह सतर्क है और किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए सुरक्षा चाक चौबंद की है। पुलिस ने करणी सेना के नेताओं को गिरफ्तार भी किया है। महानगर में 50 लोगों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। अहमदाबाद में भी 44 लोगों के गिरफ्तार होने का समाचार है। गुजरात मल्टीप्लेक्स आनर्स एसोसिएशन ने राज्य के किसी भी सिनेमाघर में पद्मावत का प्रदर्शन नहीं करने का एलान किया है। फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली ने फिल्म के प्रदर्शन से पहले इसे करणी सेना को दिखाने की पेशकश की थी। पहले करणी सेना प्रमुख कालवी इसके लिए सहमत हो गए थे लेकिन बाद में वह मुकर गए। राजस्थान, गुजरात, मध्यप्रदेश और हरियाणा की सरकार ने फिल्म की रिलीज को राज्य में प्रतिबंधित कर दिया था। कई राज्य सरकारों ने उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर कर फिल्म प्रदर्शन पर रोक लगाने का आग्रह किया था लेकिन शीर्ष न्यायालय से राहत नहीं मिली। 

एक टिप्पणी भेजें
Loading...