राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीत सकती हैं अरुणा : दीपा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 26 फ़रवरी 2018

राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीत सकती हैं अरुणा : दीपा

aruna-can-win-gold-medal-in-commonwealth-game-says-deepa
नई दिल्ली 26 फरवरी, जिमनास्टिक विश्व कप में कांस्य पदक हासिल कर देश को गौरवांन्वित करने वाली भारतीय महिला जिमनास्ट अरुणा बुद्दा रेड्डी की प्रशंसा करते हुए दीपा करमाकर ने कहा कि अरुणा में राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने की क्षमता है। आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में अप्रैल में राष्ट्रमंडल खेलों का आयोजन होगा। अरुणा ने जिमनास्टिक विश्व कप में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला जिमनास्ट होने का इतिहास रचा। राष्ट्रमंडल खेलों से पहले भारत की झोली में यह पदक आया है। ऐसे में अरुणा से देशवासियों की उम्मीदें अधिक हो गई हैं। रियो ओलम्पिक में चौथा स्थान हासिल करने वाली दीपा के साथ ही अरुणा प्रशिक्षण करती हैं। दीपा ने कहा, "मैं इस पदक से काफी खुश हूं। अरुणा का प्रदर्शन काफी अच्छा था। मैंने 2011 से ही उनके साथ प्रशिक्षण किया है और 2014 से2017 तक हम साथ ही रहते थे।" उन्होंने कहा, "वह अच्छे प्रदर्शन के लिए प्रतिबद्ध हैं। अपनी कड़ी मेहनत पर भरोसा रखने वाली अरुणा में पदक जीतने की भूख है। इस विश्व कप से पहले वह प्रशिक्षण के लिए विदेश गई थीं। उनके लिए विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन करने का सही मौका था और उन्होंने ऐसा किया भी।" दीपा ने कहा, "मेरी आशा है कि वह राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतें। उनकी जैसी खिलाड़ी प्रणती नायक हैं, जो गोल्ड कोस्ट में अच्छा प्रदर्शन कर सकती हैं।" घुटने की सर्जरी होने के बाद हाल ही में अगरतला की रहने वाली 24 वर्षीया भारतीय जिमनास्ट दीपा ने प्रशिक्षण की शुरुआत की। राजधानी में राष्ट्रीय शिविर के दौरान उन्हें घुटने में चोट लगी थी। मुंबई में उनकी सर्जरी हुई थी। दीपा ने कहा, "राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल न होने के लिए मुझे खेद है। 2014 राष्ट्रमंडल खेलों में मैंने कांस्य पदक जीता था। मैंने अब प्रशिक्षण शुरू कर दिया है। चोट में हो रहे सुधार से मैं काफी खुश हूं। मेरा लक्ष्य एशियाई खेलों में अच्छा प्रदर्शन करने का है।"

एक टिप्पणी भेजें