मार्क्सवादियों को सत्ता से बाहर कर‘नये त्रिपुरा’ का निर्माण करें : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

शुक्रवार, 16 फ़रवरी 2018

मार्क्सवादियों को सत्ता से बाहर कर‘नये त्रिपुरा’ का निर्माण करें : मोदी

build-new-tripura-ousting-cpi-m-modi
सन्तिरबाजार (त्रिपुरा) फरवरी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मतदाताओं से मार्क्सवादियों को उनके ‘गढ़’ त्रिपुरा में सत्ता से बाहर करने की अपील करते हुए कहा कि उनकी सरकार ‘नये भारत’ का निर्माण करने को प्रतिबद्ध है जिसके तहत ‘नये त्रिपुरा’ के निर्माण के भी पूरे प्रयास किये जाएंगे। श्री मोदी ने त्रिपुरा में चुनाव प्रचार समाप्त होने से एक दिन पहले यहां रैली को संबोधित करते हुए कहा, “ हमारी नये भारत के निर्माण की यात्रा में हम ‘आधुनिक एवं नया त्रिपुरा’ का निर्माण भी करना चाहते हैं। त्रिपुरा में विकास के द्वार खोलने के लिए मैं लोगों से आग्रह करता हूं कि यहां से कम्युनिस्टों को सत्ता से हटा दिया जाए।” ‘चलो पलटई’ (आओ बदलाव लायें) के नारों के बीच श्री मोदी ने कहा कि समय आ गया है कि 20-25 वर्ष से सत्ता सुख भोग रहे वाम मोर्चे की सरकार को बाहर का रास्ता दिखा दिया जाये।  उन्होंने कहा कि राज्य में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराना चुनाव आयोग के लिए चुनौती है। श्री मोदी ने मतदाताओं से वाम मोर्चा सरकार को सत्ता से बेदखल करने का आह्वान करते हुए कहा कि यही कम्युनिस्ट कार्यकर्ताओं के हमले में मारे गये युवाओं को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि वामपंथियों से संघर्ष करते हुए मारे गये युवाओं को श्रद्धांजलि देने का दिन 18 फरवरी है।  श्री मोदी ने कहा कि माकपा को यह भ्रम हो गया है कि वह कभी सत्ता से बाहर नहीं होगी। ऐसा इसलिए है,क्योंकि माकपा का कांग्रेस के साथ ‘समझौता ’है। उन्होंने कहा कि वह नहीं जानते कि कांग्रेस त्रिपुरा में चुनाव लड़ने का ‘नाटक’ क्यों कर रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस त्रिपुरा में ‘वोट काटने वाली’ पार्टी है जो माकपा की मदद करने का प्रयास मात्र कर ही है। उन्होंने मतदाताओं को आगाह करते हुए कहा माकपा और कांग्रेस एक जैसे ही हैं, पश्चिम बंगाल में इनका ऐसा ही समझौता है। श्री मोदी ने कहा कि भाजपा के मतदान केन्द्र स्तर के कार्यकर्ता मधु देव की हाल ही में हत्या कर दी गयी। इसी तरह पिछले एक वर्ष में कम से कम 10 भाजपा कार्यकर्ताओं की विभिन्न घटनाओं में कम्युनिस्ट कार्यकर्ताओं ने हत्या कर दी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि वाम दलों के कार्यकर्ताओं के हिंसक वारदातें उनकी हताशा का परिचायक हैं। समय आ गया है कि माकपा नीत सरकार को सत्ता से बाहर कर दिया जाए। उन्होंने कहा, “ उनकी कुर्सी जाने वाली है।” दक्षिण त्रिपुरा की सन्तिरबाजार विधानसभा क्षेत्र में जनजातियों की बहुलता है। यहां से भाजपा ने प्रमोद रेयांग को अपना उम्मीदवार बनाया है जबकि कांग्रेस ने बनेती रेयांग को यहां से अपना प्रत्याशी घोषित किया है। सन्तिरबाजार सीट वाम दलों के प्रभाव वाली मानी जाती है। इस सीट से मनिन्द्र रेयांग 2003,2008 और 2013 में जीते थे। वर्ष 2013 में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने यहां से मात्र 3756 मतों से ही विजय प्राप्त की थी।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...