बिहार : फादर जेरम ड्यरेक नहीं रहे, 13 को 2 बजे से मिस्सा कुर्जी चर्च में - Live Aaryaavart

Breaking

सोमवार, 12 फ़रवरी 2018

बिहार : फादर जेरम ड्यरेक नहीं रहे, 13 को 2 बजे से मिस्सा कुर्जी चर्च में

father-jerom-no-more
पटना. पब्लिक को अभी -अभी खबर मिली है कि कुर्जी पल्ली के पूर्व पल्ली पुरोहित  श्रदेय फादर जेरम ड्यूरेक का निधन हो गया.मोबाइल से रंजीत लौरेंस ने खबर दी कि आज सोमवार को एक्स.टी.टी.आई.,दीघा में करीब साढ़े छह बजकर बीस मिनट में अंतिम सांस लिये.कुर्जी चर्च में मिस्सा दो बजे से और दफन एक्स. टी. टी.आई.में होगा. फादर ड्यूरेक का जन्म 7 नवम्बर 1929 में हुआ.अमेरिकन ड्युरेक ने 18 वर्ष की अवस्था में  21 अगस्त 1947 में विश्व विख्यात 'येसु समाज' में प्रवेश किये.जब 31 वर्ष के थे तब 19 मार्च 1966 को पुरोहित बने.तब से बहुयाबी कार्य करने लगे.दुबले-पतले व लम्बे कद के पुरोहित धार्मिकता में अडिग थे. बेतिया,लतौना,मुजफ्फरपु व कुर्जी पल्ली में शानदार कार्य किये.लोग दिल से प्यार करते थे फादर से और फादर भी पीछे नहीं रहे. बेतियान्वी मुकेश राज ने जानकारी दी है कि बेतिया पल्ली में फादर दो बार पल्ली पुरोहित बने. अव्वल जून 1976 से मई 1983 और द्वितीय चरण में दिसम्बर 1999 से 2007 तक कार्य किये.

जिंदगी के 89 वर्ष में सप्ताह पूर्व विश्राम करने दीघा स्थित एक्स.टी.टी.आई.गये थे.रविवार 11 फरवरी को फादर के बारे में जानकारी ली गयी तो बताया कि पैर में जख्म है.मगर बेहतर हालत में हैं.सोमवार 12 फरवरी को सुबह 6:20 में दम तोड़ दिये.89 वर्ष के थे. निधन की खबर फैलते ही ईसाई समुदाय में गम पसर गया. बताया जाता है कि फादर पैर में जख्म से परेशान थे फादर.केवल एक सप्ताह से ही एक्स.टी.टी.आई.में गये थे.वहां ब्रदर फ्रांसिस देखभाल करते हैं. इनके साथ पांच सेवादार है.सेवा करते है मेल नर्स ब्रदर के नेतृत्व में. मेल नर्स के अलावे ब्रदर होम्योपैथी में विशेष अध्ययन किये हैं.ब्रदर ही इलाज करते हैं. अधिक बीमार होने पर ब्रदर डॉक्टर जेड.हक को कुर्जी हॉस्पिटल से बुलाते है. खबर है कि पब्लिक के दर्शनार्थ फादर का पार्थिव शरीर को कुर्जी पल्ली में लाया जाएगा.यहां पर सुबह 9 बजे दर्शनार्थ रखा जाएगा.अंतिम संस्कार 2 बजे से किया जाएगा. बेतिया में 15 फरवरी को 4:30 बजे फादर के सम्मान में विशेष मिस्सा होगी.तस्वीर पर पुष्पांजलि करेंगे.
एक टिप्पणी भेजें
Loading...