अररिया, जहानाबाद से राजद और भभुआ से कांग्रेस लड़ेगी चुनाव - Live Aaryaavart

Breaking

शुक्रवार, 16 फ़रवरी 2018

अररिया, जहानाबाद से राजद और भभुआ से कांग्रेस लड़ेगी चुनाव

rjd-congress-liance-for-by-poll-bihar
पटना 15 फरवरी, बिहार में 11 मार्च को होने वाले उप चुनाव के लिए राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस के बीच सीटों को लेकर बनी सहमति की औपचारिक घोषणा आज कर दी गई और इसके तहत अररिया लोकसभा और जहानाबाद विधानसभा सीट से राजद जबकि भभुआ विधानसभा सीट से कांग्रेस चुनाव लड़ेगी।  बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री एवं बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव और कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी नेयहां राजद के प्रदेश कार्यालय में आयोजित संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में उप चुनाव में सीटों को लेकर दोनों दलों के बीच सहमति बन गयी है। तालमेल के तहत अररिया लोकसभा और जहानाबाद विधानसभा सीट राजद जबकि भभुआ विधानसभा सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे। श्री यादव ने उम्मीदवारों की घोषणा करते हुये कहा कि अररिया लोकसभा क्षेत्र से राजद के पूर्व सांसद मोहम्मद तस्लीमुद्दीन के पुत्र सरफराज आलम को पार्टी की ओर से उम्मीदवार बनाया गया है कि जहानाबाद विधानसभा से राजद के पूर्व विधायक मुद्रिका सिंह यादव के पुत्र कुमार कृष्णमोहन सुदय यादव प्रत्याशी होंगे। उन्होंने कहा कि भभुआ विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार होंगे जिसका निर्णय कांग्रेस को लेना है। 

पूर्व उप मुख्यमंत्री ने कहा कि राजद और कांग्रेस आगे की लड़ायी के लिए पूरी तरह से तैयार है और गठबंधन में किसी तरह की कोई समस्या नहीं है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) चोर दरवाजे से सत्ता में आई है जिसे इस बार के उप चुनाव में उखाड़ फेंकना है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने चुनाव से पूर्व ही हार स्वीकार कर ली है और इसी कारण जदयू ने उप चुनाव में प्रत्याशी नहीं उतारने का निर्णय लिया है। श्री यादव ने कहा कि जदयू के विधायकों में खासा निराशा है कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल होने से आने वाले चुनाव में उन्हें सीट मिलेगी भी कि नहीं। अभी तो जदयू के एक ही विधायक (सरफराज आलम) ने पार्टी छोड़ी है और आगे इसी तरह से कई विधायक पार्टी छोड़कर राजद में शामिल होने वाले हैं। उन्होंने कहा कि राजग के घटक हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) में भी जहानाबाद सीट को लेकर खींचतान चल रही है। प्रतिपक्ष के नेता ने कहा कि राजग में सीट का मसला सुलझाने के लिए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिल्ली में कैंप कर रहे हैं। बिहार में साम्प्रदायिक शक्तियों को हराने के लिए प्रदेश की जनता पूरी तरह से तैयार बैठी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कुमार संघमुक्त भारत बनाने की बात कहते थे लेकिन अब वह स्वयं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की गोद में बैठ गये हैं। 

श्री यादव ने कहा कि भाजपा ने बिहार के साथ छलावा किया है, जिसे प्रदेश की जनता भलीभांति समझ रही है। विशेष राज्य का दर्जा, विशेष पैकेज, बाढ़ पीड़ितों के राहत मद में राशि में कटौती तथा युवाओं को रोजगार के नाम पर ठगा गया है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए भोजपुर में पीरो के जवान के घर पर उनके परिजनों को सांत्वना देने राज्य सरकार का कोई भी नुमाइंदा नहीं गया। कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष श्री कादरी ने कहा कि उनकी पार्टी ने भभुआ विधानसभा उप चुनाव में दावेदारी की थी, जिसे राजद ने स्वीकार कर लिया है। राजद के साथ कांग्रेस के संबंध को लेकर भाजपा और जदयू के नेता लगातार टीका-टिप्पणी कर रहे थे लेकिन भभुआ सीट उनकी पार्टी के खाते में जाने के बाद से उनकी बोलती बंद हो गयी है। उन्होंने कहा कि इस उप चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर एक सौहार्द्रपूर्ण ढंग से सुलझा लिया गया है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जदयू को बताना चाहिये कि उनका जनाधार कहां है कि उप चुनाव के पहले ही उम्मीदवार नहीं खड़ा कर मैदान छोड़ दिया है। भाजपा से हाथ मिलाने के बाद जदयू की क्या स्थिति है, किसी से छिपी हुयी नहीं है। उन्होंने कहा कि पार्टी के बिहार मामलों के प्रभारी सी. पी. जोशी से भभुआ सीट को लेकर उनकी बातचीत हुयी है और शीघ्र ही उम्मीदवार के नाम की घोषणा कर दी जायेगी। इस उप चुनाव में तीनों सीट पर राजद और कांग्रेस के उम्मीदवारों की अप्रत्याशित जीत होगी। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...