'मानव तस्करी के शिकार लोगों को कौशल भारत में मिले जगह' - Live Aaryaavart

Breaking

मंगलवार, 6 मार्च 2018

'मानव तस्करी के शिकार लोगों को कौशल भारत में मिले जगह'

victims-of-human-trafficking-should-get-seat-in-kaushal-bharat
नई दिल्ली 6 मार्च, नेशनल स्किल डवलपमेंट कार्पोरेशन(एनएसडीसी), दिशा प्रोजेक्ट और मानव तस्कर रोधी संगठन 'जस्टिस एवं केयर' के संयुक्त तत्वाधान में मंगलवार को मानव तस्करी का शिकार हुए लोगों को कौशल भारत कार्यक्रमों में शामिल करने और अर्थव्यवस्था में सार्थक भागीदारी के लिए एक दिवसीय अंतर-मंत्रीय संवाद (इंटर मिनिस्ट्रियल डायलॉग) कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस सम्मेलन में तस्करी की शिकार हुईं महिलाओं, बच्चों और लोगों के लिए एक फाउंडेशन कोर्स शुरू करने की योजना रखी गई। दिशा प्रोजेक्ट में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) और इंडिया डवलपमेंट फाउंडेशन की भागीदारी है। इस मुद्दे के समाधान के लिए जस्टिस एंड केयर संगठन ने स्किल डवलपमेंट आर्गनाइजेशन्स डॉन बास्को टेक और रूरल शोर्स एकेडमी के साथ मिलकर एक फाउंडेशन कोर्स तैयार किया है जो तस्करी का शिकार हुए लोगों को कौशल भारत के तहत तकनीकी प्रशिक्षण मुहैया कराएगा। जस्टिस एंड केयर के प्रवक्ता एड्रियन फिलिप्स ने इस अवसर पर कहा, "हमने महसूस किया कि मानव तस्करी के शिकार लोगों में कौशल बहुत ही कम या नहीं होता है। वहीं दूसरी ओर रोजगारन्मुख कार्यक्रमों में बुनियादी शिक्षा और गणितीय कौशल की जरूरत होती है। हमारे द्वारा शुरू किया गया फाउंडेशन कोर्स इसका समस्या का समाधान है, तस्कर के शिकार लोगों को बिल्कुल बुनियादी स्तर से प्रशिक्षित किया जाएगा।" वहीं एनएसडीसी के सीओओ जयंत कृष्णा ने कहा, "इस कार्यक्रम का उद्देश्य इस अपराध का शिकार हुई महिलाओं को कौशल प्रशिक्षण देना है, ताकि वह समाज की मुख्यधारा में खुद को जोड़ सके।"

एक टिप्पणी भेजें
Loading...