ट्रेन से टकरायी स्कूल वैन, 13 बच्चों की मौत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 26 अप्रैल 2018

ट्रेन से टकरायी स्कूल वैन, 13 बच्चों की मौत

13-children-killed-in-train-mishap
गोरखपुर/कुशीनगर, 26 अप्रैल, उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में दुदही रेलवे स्टेशन के निकट आज सुब​ह मानवरहित क्रासिंग पर स्कूली बच्चों से भरी वैन के पैसेंजर ट्रेन से टकरा जाने से 13 बच्चों की मौत हो गयी जबकि चालक समेत पांच अन्य घायल हो गये। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने योगी ने संवाददाताओं से कहा, 'दुदही रेलवे स्टेशन के पास मानवरहित क्रासिंग पर वैन ट्रेन से टकरा गयी, जिससे 13 बच्चों की दु:खद मौत हो गयी। गंभीर रूप से घायल चार बच्चों और वैन चालक का गोरखपुर मेडिकल कालेज में इलाज चल रहा है।' उन्होंने कहा, 'मैंने इस संबंध में रेलमंत्री से बातचीत की है। प्रथम दृष्टया इस मामले में वैन चालक की गलती सामने आ रही है। वह ईयर फोन लगाकर वैन चला रहा था।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले से कठोर निर्देश थे कि सुरक्षा नियमों का पालन कडाई से कराया जाए। खासकर जब स्कूली वाहन से बच्चे जाते हैं तो मानकों का पूरा ध्यान रखा जाए। योगी ने जनपद कुशीनगर में आज सुबह हुई रेल-स्कूल वैन दुर्घटना के दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की है। उन्होंने शिथिल पर्यवेक्षण के लिए जनपद कुशीनगर के बेसिक शिक्षा अधिकारी हेमन्त राव को तत्काल प्रभाव से निलम्बित करने का निर्देश दिया। दुदही के खण्ड शिक्षा अधिकारी शेष बहादुर को भी निलम्बित किए जाने के निर्देश दिया।  सरकारी प्रवक्ता ने आज शाम बताया कि मुख्यमंत्री ने कुशीनगर के एआरटीओ राजकिशोर त्रिवेदी और यात्री कर अधिकारी रणवीर सिंह चौहान को दुर्घटना के उत्तरदायी पाए जाने पर निलम्बित करने के निर्देश दिया हैं। 

मुख्यमंत्री ने बिना पंजीकरण के विद्यालय का संचालन करने के लिए डिवाइन पब्लिक स्कूल के प्रबन्धक एवं प्रधानाचार्य करीम जहान खान के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराते हुए विधिक धाराओं में कार्रवाई करने के निर्देश भी दिया हैं। उन्होंने सेठ बंशीधर विद्यालय की जांच कराने के भी निर्देश दिए हैं, जहां से डिवाइन पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों के लिए टीसी की व्यवस्था की जाती थी। इस बीच पुलिस उप महानिरीक्षक :कानून व्यवस्था: प्रवीण कुमार ने पत्रकारों से कहा कि इस मामले में स्कूल वैन के चालक और स्कूल प्रबंधन के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। भीड़ रेलवे और स्थानीय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रही थी। मुख्यमंत्री ने भीड़ को शांत कराने का प्रयास किया लेकिन नारेबाजी जारी रही। नाराज योगी बोले, 'नारेबाजी बंद करो, नौटंकी बंद करो। मैं यहां सिर्फ अपनी सहानुभूति व्यक्त करने आया हूं।' रेलवे प्रवक्ता वेद प्रकाश ने बताया कि बच्चे डिवाइन पब्लिक स्कूल के छात्र थे। वैन सीवान से गोरखपुर जा रही पैसेंजर ट्रेन :55075: से टकरायी। यह स्थान गोरखपुर से करीब 50 किलोमीटर दूर है। वैन में 10 साल की उम्र तक के बच्चे सवार थे जो स्कूल जा रहे थे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुर्घटना स्थल पहुंचकर सारे पहलुओं की जानकारी ली। उन्होंने पडरौना के ​जिला अस्पताल का निरीक्षण किया और गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज में भर्ती गंभीर रूप से घायल चार बच्चों और वैन चालक नियाज अह​मद को भी देखने पहुंचे।

योगी ने कहा, 'गोरखपुर के आयुक्त को घटना की जांच का निर्देश दिया गया है और उनसे शाम तक रिपोर्ट देने को कहा गया है। यह हादसा मानवरहित रेलवे क्रासिंग पर हुआ है। स्कूली वैन के ट्रेन से टकराने के कारण यह दु:खद घटना घटी है।' गौरतलब है कि प्रदेश के भदोही में वर्ष 2016 में ऐसी घटना हुई थी जिसमें एक स्कूल मिनी बस ट्रेन से टकरा गयी थी जिसमें आठ बच्चों की मौत हो गयी थी तथा 14 अन्य घायल हो गये थे। उधर, पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी संजय यादव ने ‘भाषा’ को फोन पर ​बताया​ कि क्रासिंग संख्या—45 पर 'क्रासिंग मित्र' तैनात था जिसने वैन चालक को रोकने की कोशिश की लेकिन वह नहीं रूका और क्रासिंग पार करने की कोशिश की लेकिन शायद वैन बीच पटरी पर अचानक पहुंचकर बंद हो गयी और यह हादसा हो गया। राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने इस हादसे पर ट्वीट कर कहा, 'कुशीनगर, उतर प्रदेश में मासूम बच्चों को ले जा रही बस की दुर्घटना के बारे में जानकर बहुत दुख हुआ है। मेरी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं शोकाकुल परिवारों तथा घायल हुए लोगों, ख़ासकर बच्चों के साथ हैं।' प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए कहा, '... बहुत दुखद समाचार मिला। बहुत पीडा हुई। उत्तर प्रदेश सरकार आवश्यक कार्रवाई करेगी। रेलवे विभाग भी आवश्यक कार्रवाई करेगा।' रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट किया, 'कुशीनगर में हुए हादसे में स्कूली बच्चों की मृत्यु का दुःखद समाचार मिला, मैंने वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा हादसे की जांच के निर्देश दिए हैं। मृतकों के परिजनों को रेलवे की ओर से दो दो लाख रुपये की सहायता दी जायेगी जो उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा दी जा रही दो दो लाख रूपये की राशि के अतिरिक्त होगी।' उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय, सपा मुखिया अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी घटना पर गहरा दु:ख प्रकट किया है।
एक टिप्पणी भेजें