हरियाणा में व्यवसाय को ‘गंदा’ बताने की आलोचना की कांग्रेस ने - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 11 अप्रैल 2018

हरियाणा में व्यवसाय को ‘गंदा’ बताने की आलोचना की कांग्रेस ने

congress-criticized-business-of-dirty-in-haryana
नयी दिल्ली 11 अप्रैल, कांग्रेस ने हरियाणा में स्कूली छात्रों के फार्म में अभिभावकों के व्यवसाय में ‘गंदा या अस्वच्छ’ श्रेणी शामिल करने की आलोचना करते हुए राज्य की खटटर सरकार से इसके लिए माफी मांगने तथा संबंधित फार्म को वापस लेने की मांग की है। कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आज यहां संवाददाताओं के सवालों पर कहा कि हरियाणा के स्कूलों में छात्रों को एक फार्म भरने के लिए कहा गया है जिसमें लगभग एक सौ सवाल पूछे गये हैं। फार्म में निजी जानकारियां मांगी गयी हैे जिनका छात्रों या उनकी शिक्षा से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि जासूसी भारतीय जनता पार्टी के डीएनए में शामिल हो गयी है। खटटर सरकार को स्पष्ट करना चाहिए कि उसे इतनी जानकारियां क्यों चाहिए।  श्री सुरजेवाला के अनुसार छात्रों से पूछा गया है कि क्या वे अपने माता पिता के व्यवसाय ‘गंदा या अस्वच्छ’ मानते हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार को स्पष्ट करना चाहिए कि वह किस पेशे को गंदा मानती है। उन्होेंने कहा, ‘ खट्टर सरकार ने फिर वही किया। छात्रों को 'अछूत' और उनके माता-पिता के पेशे को 'अस्वच्छ' ठहराया है।’ उन्होंने कहा कि छात्रों से उनके परिवार, जाति, धर्म, आधार कार्ड, बैंक खाते तथा माता पिता के पेशे की जानकारी भी मांगी गयी है। कांग्रेस नेता ने कहा कि खट्टर सरकार को राज्य के लोगों से माफी मांगनी चाहिए और इस फार्म को तुरंत वापस लेना चाहिए।
एक टिप्पणी भेजें