दरभंगा के पोलो मैदान से माले महासचिव के नेतृत्व में आरंभ हुई पदयात्रा. - Live Aaryaavart

Breaking

बुधवार, 25 अप्रैल 2018

दरभंगा के पोलो मैदान से माले महासचिव के नेतृत्व में आरंभ हुई पदयात्रा.


  • लड़के लेंगे जनअधिकार, होगा दंगामुक्त बिहार’ के संकल्प के साथ दरभंगा से जनअधिकार पदयात्रा आरंभ.
  • विक्रमगंज के जत्थे का नेतृत्व कर रहे काॅ. अरूण सिंह.

cpi-ml-jan-adhikar-paad-yatraa-daarbhanga
दरभंगा 25 अप्रैल 2018, ‘लड़के लेंगे जनअधिकार, होगा दंगा मुक्त बिहार’ के संकल्प व ‘भाजपा भगाओ-बिहार बचाओ’ के आह्वान साथ आज लहेरियासराय (दरभंगा) के ऐतिहासिक पोलो मैदान से ‘भाजपा भगाओ-बिहार बचाओ’ जनअधिकार यात्रा आरंभ हुई. दरभंगा से चलकर माधोपुर, बोचहां, मुजफ्फरपुर, कुढ़नी, सराय और हाजीपुर होते हुए मजदूर दिवस 1 मई को पटना के गांधी मैदान में आयोजित ‘जनअधिकार महासम्मेलन’ में शामिल होने जा रहे हजारों पदयात्रियों को माले महासचिव काॅ. दीपंकर भट्टाचार्य ने विदा किया. मौके पर भाकपा-माले के राज्य सचिव कॉ. कुणाल, माले पोलित ब्यूरो के सचिव व मिथिलांचल प्रभारी कॉ. धीरेंद्र झा, केंद्रीय कमेटी के सदस्य कॉ. संतोष सहर, दरभंगा जिले के सचिव कॉ. बैद्यनाथ यादव तथा आर के साहनी, लक्ष्मी पासवान, सत्यनारायण मुखिया, जमालुद्दीन, सदीक भारती, शिवन यादव, नन्दलाल ठाकुर, रामाशीष साह आदि समेत जिले के वरिष्ठ माले भी इस अवसर पर मौजूद थ ‘पोलो मैदान से गांधी मैदान’ तक होनेवाली इस पदयात्रा में शामिल होने के लिए रविदास सेवा संघ के सचिव बलिराम राम व रणजीत राम, बेदारी कारवां के नेता नजरे आलम व प्रो.राहत अली, एआइपीएफ के नेता रि. कर्नल लक्ष्मेश्वर मिश्रा, इंसाफ मंच के राज्य उपाध्यक्ष नियाज अहमद व मोहम्मद इम्तेयाज भी स्थानीय पोलो मैदान पहुंचे. वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. अजित कुमार चैधरी, डॉ. शब्बीर अहमद, प्रो.हृषिकेश झा, प्रो. सुरेंद्र प्र. सुमन, प्रो. रामबाबू आर्य, सेवानिवृत अधिकारी धनेश्वर यादव, वरिष्ठ अधिवक्ता प्रेमचन्द सिन्हा, साहित्यकार शंकर प्रलामी, प्रो. अवधेश कुमार सिंह (प्राचार्य, कला महाविद्यालय) आदि ने भी इस मौके पर पोलो मैदान पहुंचकर फूल-मालाओं के साथ जनअधिकार यात्रा में शामिल होनेवाले पदयात्रियों का स्वागत गर्मजोशी भर स्वागत किया.

cpi-ml-jan-adhikar-paad-yatraa-daarbhanga
अखिल भारतीय किसान महासभा, अखिल भारतीय ग्रामीण व खेत मजदूर सभा (खेग्रामस), ऐपवा, ऐक्टू, आइसा, इंकलाबी नौजवान सभा, बिहार राज्य रसोइया संघ के सैकड़ों कार्यकर्ता व नेता भी अपने झंडों-बैनरों के साथ जनअधिकार पदयात्रा में शामिल हुए. सुबह 9 बजे सैकड़ों पदयात्रियों, शहर के गणमान्य नागरिकों व पत्रकारों की मौजूदगी में यात्रा की शुरूआत व अगुवाई करते हुए काॅ. दीपंकर भट्टाचार्य ने कहा कि भाजपा ने देश व बिहार केा जिस संकट में डाल दिया है, वहां अब उसको भगाने के सिवा कोई रास्ता नहीं बचा है. वह देश में उन्माद-उत्पात का पर्याय बन गई है और देश व उसकी जनता पर चैतरफा हमला कर रही है. आधार कार्ड के नाम पर गरीबों को राशन नहीं दिया जा रहा है और लोग भूखे मरने को विवश हैं. बेरोजगारी की दर लगातार बढ़ रही है, लेकिन प्रधानमंत्री बेरोजगारों को पकौड़ा बेचने की सलाह दे रहे हैं. बिहार से लेकर पंजाब तक आज किसान आत्महत्यांए कर रहे हैं. बैंकों की स्थिति नोटबंदी के दिनों से भी बुरी है. विजय माल्या और नीरव मोदी जैसे लोग आम जतना का पैसा लेकर विदेश भाग गए हैं. बैंक खाली पड़े हैं. लोगों को अपने ही पैसे के लिए लाइन में लगना पड़ रहा है. महिलाएं सुरक्षित नहीं है और बच्चियों के साथ बलात्कार करने वालों का भाजपा बचाव कर रही है. महिलाओं व दलितों पर हमले लगातार बढ़ रहे हैं.

उनहोंने कहा कि भाजपा एक तरफ देश को हिंदू-मुसलमान के नाम पर बांटने की कोशिश कर रही है, देश में दंगा-फसाद फैलाकर जनता के उठ रहे आक्रोश को दिगभ्रमित कर देना चाहती है, तो दूसरी ओर अमरीकी-ब्रिटिश आकाओं के निर्देश पर चल रही है. उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि इसके खिलाफ जनता सड़कों पर आए और बिहार व देश से भाजपा को भगाने के अभियान में एकजुट हो. देश जिस कठिन दौर से गुजर रहा है, उसमें बिहार नया रास्ता दिखलाएगा और चोर दरवाजे से बिहार की सत्ता हथियाने वाले डाकुओं को भगाना होगा तथा लोकतंत्र के लिए अमन-भाईचारा का राज कायम करने के लिए आगे आना होगा. विक्रमगंज से निकलने वाली यात्रा का नेतृत्व पूर्व विधायक अरूण सिंह कर रहे हैं. यात्रा में हजारों की संख्या में मजदूर-किसान, महिलायें शामिल हैं. हाथों में लाल झंडा, माथे पर कलेवा और मन में गजब उत्साह लिए यात्रियों का जत्था पटना की ओर कूच कर गया है.
एक टिप्पणी भेजें
Loading...