बिहार : पोलो मैदान दरभंगा से करेंगे पदयात्रियों को करेंगे पटना के लिए दीपंकर विदा - Live Aaryaavart

Breaking

मंगलवार, 24 अप्रैल 2018

बिहार : पोलो मैदान दरभंगा से करेंगे पदयात्रियों को करेंगे पटना के लिए दीपंकर विदा

  • कहा - पदयात्रा को लेकर बिहार की जनता में उत्साह.

dipankar-depart-team-to-patna-from-darbhanga
पटना 24 अप्रैल 2018, भाकपा-माले के राज्यव्यापी भाजपा भगाओ-बिहार बचाओ जनअधिकार पदयात्रा राज्य के विभिन्न हिस्सों में आरंभ हो गयी है. माले महासचिव काॅ. दीपंकर भट्टाचार्य, राज्य सचिव कुणाल और केंद्रीय कमिटी के सदस्य काॅ. संतोष सहर आज 24 अप्रैल की शाम दरभंगा रवाना हो चुके हैं. 25 अप्रैल की सुबह दरभंगा के पोलो मैदान से नेतागण पदयात्रियों को पटना के लिए विदा करेंगे. पांचों पदयात्राओं में यह सबसे लंबी पदयात्रा होगी. दरभंगा रवाना होने से पहले पटना में माले महासचिव ने कहा कि आज आजादी की दूसरी जंग की जरूरत है. एक ओर सत्तासीन संघ-भाजपा के नेतृत्व में लोकतंत्र, न्याय व संविधान विरोधी ताकतें खड़ी हैं, वहीं दूसरी ओर मजदूर-किसानों, दलित-अल्पसंख्यकों, महिलाओं व छात्र-नौजवानों समेत पूरा देश खड़ा है. उन्होंने कहा कि भगत सिंह और अंबेडकर दो ऐसे प्रकाश स्तम्भ हैं, जिनकी रोशनी में हमें नए लोकतांत्रिक, धर्मनिरपेक्ष व आजाद भारत के लिए एक नई लड़नी होगी. बाबा साहेब ने स्वतंत्रता, बराबरी व भाईचारा की बुनियाद पर जिस संविधान को रचा था, संघ परिवार उसे नष्ट कर मनुस्मृति को भारत का संविधान बनाना चाहता है. बिहार में भी आज इन दंगाइयों की मंशा साफ-साफ दिख रही है. इसलिए हमने भाजपा भगओ - बिहार बचाओ का नारा दिया है. दरभंगा से निकलने वाली पदयात्रा में पार्टी के पोलित ब्यूरो सदस्य काॅ. धीरेन्द्र झा भी शामिल रहेंगे. मुजफ्फरपुर, वैशाली होते हुए यह यात्रा अंतराष्ट्रीय मजदूर दिवस 1 मई की सुबह पटना के गांधी मैदान पहुंचेगी. यह पदयात्रा 160 किलोमीटर की दूरी तय करेगी और 6 दिनों में पटना में पहुंचेगी. पदयात्रा में बड़ी संख्या में दलित, अकलियत, महिलायें और कमजोर वर्ग के लोग शामिल हो रहे हैं. पार्टी दायरे के बाहर कई संगठन, बुद्धिजीवी, डाॅक्टर, प्रोफेसर, वकील सहित विभिन्न तबके के लोग भी पदयात्रा में शामिल होंगे.

उन्माद-उत्पात की राजनीति के खिलाफ आमजन की रोजी-रोटी के सवाल, शिक्षा-रोजगार के प्रश्न को लेकर यह पदयात्रा निकल रही है. पदयात्रा ने नारा दिया है -  भूमि और आवास चाहिए, दंगामुक्त बिहार चाहिए; उन्माद-उत्पात की राजनीति को ध्वस्त करो - अमन-भाईचार बुलंद करो. पोलो मैदान से निकलकर यात्रा लहेरियासराय टावर, ओझौल, तारालाही, केलवागाछी, डीहरामपुर, बसतवार होतु हऐ आगे बढ़ेगी. वहीं विक्रमगंज से भी कल सुबह 25 अप्रैल को यात्रा आरंभ होगी. कैमूर जिले और रोहतास के विभिन्न प्रखंडों के पदयात्री पदयात्रा करते हुए आज शाम विक्रमगंज पहुंच चुके हैं. कल सुबह सारी दिशाओं से आने वाले पदयात्री एक साथ विक्रमगंज से आरा की ओर बढ़ेंगे. पदयात्रा का नेतृत्व पार्टी के पूर्व विधायक व रोहतास जिला के सचिव काॅ. अरूण सिंह, भोजपुर के जिला सचिव व केंद्रीय कमिटी के सदस्य काॅ. जवाहर लाल सिंह, युवा नेता काॅ. मनोज मंजिल, राजू यादव आदि कर रहे हैं. अरवल से जहानाबाद और फिर पटना की ओर प्रस्थान करने वाली पदयात्रा की तैयारी भी अंतिम चरण में पहुंच चुकी है. पदयात्रा को लेकर गांव-गांव में बैठकें आयोजित की गईं. यह पदयात्रा बाथे से निकलकर अरवल, भदासी, इमामगंज, अतौलह होते हुए जहानबाद पहंुचेगी. पदयात्रियों का हौसला बढ़ाने के लिए जगह-जगह स्वागत समिति का गठन किया गया है. पदयात्री अपने साथ झोला, सत्तू, गिलास आदि साथ में रखे हुए हैं. पदयात्रा में शामिल लोगों के प्राथमिक इलाज के लिए मेडिकल टीमों का भी गठन किया गया है.
एक टिप्पणी भेजें
Loading...