झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 26 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

गुरुवार, 26 अप्रैल 2018

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 26 अप्रैल

‘वर्तमान शैक्षणिक परिदृष्य में षिक्षकों का योगदान’ विषय पर प्राचार्य एवं षिक्षकों ने व्यक्त किए विचार
  • समागम षिक्षक सम्मान समारोह का किया गया आयोजन

jhabua news
झाबुआ। स्थानीय कृषि उपज मंडी के समीप स्थित निजी रेस्टोरेंट पर पटेल ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूट इंदौर एवं मध्यान्चल प्रोफेषनल यूनिवर्सिटी भोपाल द्वारा संयुक्त रूप से 26 अप्रेल को दोपहर 12 बजे से समागम षिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में इंस्टीट्यूट इंदौर के डायरेक्टर केके मिश्रा उपस्थित थे। विषेष अतिथि के रूप में शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय के व्याख्याता एमएस खुराना, थांदला हाईस्कूल के प्राचार्य एमसी गुप्ता, वरिष्ठ अध्यापक विजय अरोड़ा एवं विनोदकुमार जैन मौजूद थे। समारोह का शुभारंभ मां सरस्वतीजी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर अतिथियों द्वारा किया गया। पश्चात् अतिथियों का स्वागत आयोजक संस्था के प्राचार्य डाॅ. मनीष पांडे, ट्रेनिंग मेनजमेंट हेड नवीन गुर्जर, मधुसुदन, राहुल जायसवाल एवं भावेष गौराने आदि द्वारा किया गया। पष्चात् संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि डायरेक्टर केके मिश्रा ने कहा कि आज यह समारोह हमारे द्वारा इसलिए रखा गया है कि हम जिले के षिक्षकों का सम्मान कर सकेषिक्षक षिक्षा जगत की नींव होता है। युवाओं के भविष्य का निर्माण करता है, ऐसे षिक्षक-षिक्षिकाओं का सम्मानित कर हम अत्यंत गौरवान्वित महसूस कर रहे है।

इंजिनियरिंग के क्षेत्र में है कई अववसर
उत्कृष्ट उमा विद्यालय के व्याख्याता एमएस खुराना ने कहा कि जिन दो संस्थाओं द्वारा मिलकर यह आयोजन किया गया है, वह इंजनियरिंग के क्षेत्र में कार्य करती है। उक्त संस्थाओं से इंजिनियर बनकर निकले कई छात्र.-छात्राएं आज देष की बड़ी-बड़ी कंपनियों में कार्यरत है और अच्छा वेतन प्राप्त कर रहे है। आज प्रायः यह देखने को मिलता है कि छात्र्र-छात्राएं इंजिनियरिंग की डिग्री तो ले लेते है, लेकिन उन्हें प्रेक्टिकल नाॅलेज नहंी होता है, जिससे उन्हें कंपनियों में कार्य करने में काफी परेषानी आती है। डिग्री हासिल करने के साथ हमे प्रेक्टिकल पर भी ध्यान देने की आवष्यकता है। वरिष्ठ अध्यापक विजय अरोड़ा एवं विनोदकुमार जैन ने भी इस अवसर पर छात्र-छात्राओं को सीख दी कि वे केवल इंजिनियर की डिग्री हासिल करने पर ही ध्यान ना दे, इसके साथ ही अनुभव को भी विषेष महत्व दे।

षिक्षकों ने भी अपने अनुभव साझा किए
समारोह में गणित विषय के वरिष्ठ षिक्षक हरिष कुंडल ने उक्त दोनो संस्थाओं से आए प्रबंधकों को कहा कि आपका यह समारोह तभी सार्थक होगा, जब आप जिले से हायर सेकेंडरी में अध्ययन करने के बाद इंजिनियर का कोर्स करने वाले छात्र-छात्राअें को अपने इंस्ट्टीयूट में एडमिषन दिलवाएंगे एवं उनके भविष्य बनाने में सार्थक साबित होंगे। अनिल नायक ने चिंता व्यक्त की कि आज षिक्षा का स्तर काफी निम्न हो गया है। आज का विद्यार्थी पढ़ाने करने की अपेक्षा केवल डिग्री हासिल करने पर ही जोर देता है। बाबुसिंह नायक ने भी अपने विचार व्यक्त किए। सभी से प्राप्त सुझावों पर अमल करने की बात डायरेक्टर श्री मिश्रा ने कहीं। इस दौरान आयोजक संस्थाओं की ओर से अपना प्रेजेंटेषन भी प्रस्तुत किया गया।

किया गया भव्य सम्मान
समारोह के अंत में जिलेभर से आए विभिन्न शासकीय संस्थाओं के प्राचार्यों एवं षिक्षक-षिक्षिकाओं का सम्मान अतिथियों द्वारा पुष्पमाला पहनाकर, शाल ओढ़ाकर, श्रीफल भेंटकर तथा अभिनंदन-पत्र देकर किया गया। जिसे सभी षिक्षक-षिक्षकाएं काफी अभिभूत हुए और इस आयोजन की सराहना की। समारोह का संचालन आयोजक संस्था की ओर से एकेडमी थायड हरिष शर्मा ने किया एवं आभार प्राचार्य मनीष पांडे ने माना।

कमलनाथ जी के मध्यप्रदेश प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व ज्यौतिराज सिंधिया के चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष व कार्यकारी अध्यक्ष बनने पर दी सांसद कांतिलाल भूरिया दी बधाई ।

झाबुआ । पूर्व केन्द्रीय मंत्री छिंदवाडा सांसद कमलनाथ जी को मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की कमान सौपी गई हैं, साथ ही सांसद ज्यौतिराज सिंधिया जी को चुनाव प्रचार समिति का अध्यक्ष बनाया गया हैं, इसी के बाला बच्चन, रामनिवास रावत, जितू पटवारी, और सुरेन्द्र चैधरी को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया हैं । अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष की सहमति व प्रदेश देश की कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ सदस्यों की अनुशंसा पर कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गेहलोत ने नियुक्ति का औपचारिक पत्र जारी करते हुए बताया कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहूल गांधी ने प्रदेश कांग्रेस की नियुक्ति पर मौहर लगाई हैं । इसके साथ ही मध्यप्रदेश की राजनैतिक अटकलों पर विराम लग गया हैं । सांसद कांतिलाल भूरिया ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहूल गांधी जी का आभार मानते हुए आश्वस्थ किया कि पूरें प्रदेश में कांग्रेस एक जुटता दिखाते हुए पूरी ताकत से आने वाले चुनाव में जनता के बिच में जाकर जनता के साथ खडे रहकर जनता भारतीय जनता पार्टी की पोल खोलेगी तथा आने वाले चुनावों में कांग्रेस के पक्ष में वोट करने हेतु प्रेरित करेगी व मध्यप्रदेश में भारी बहूमत से कांग्रेस की सरकार बनेगी तथा आज भारतीय जनता पार्टी को जड से अखाड फेगेगी । भूरिया ने कहा की कमालनाथ जी के नेतृत्व में सिंधिया जी के साथ हम सब कांग्रेस पार्टी को और अधिक मजबूत बनाएगें । उन्होने जनता से आव्हांन किया कि कांग्रेस पार्टी जनता की पार्टी हैं, व जनता के हितों की रक्षा हेतु हर पल जनता के साथ खडी रहेगी । जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री निर्मल मेहता, जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री कलावती भूरिया, जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष विक्रांत भूरिया, जिला कांग्रेस कोषाध्यक्ष प्रकाश राका वरिष्ठ कांग्रेस नेता, रमेश डोशी, हनुमंतसिंह डाबडी, नगीन शाह जी, गुरूप्रसादजी अरोडा, विजय पांडे, जिला प्रवक्ता हर्ष भट्ट, आचार्य नामदेव, शाबीर फिटवेल, पूर्व विधायक, विरसिंह भूरिया, वालसिंह मेडा, जेवियर मेडा, गंगाबाई बारिया,पूर्व जिलाध्यक्ष सुरेशचन्द्र पुरणमल जैन, षांतिलाल पडियार, नगर पालिका अध्यक्ष मनुबेन डोडियार, उपाध्यक्ष रोशनी डोडियार, कांग्रेस नेता मानसिंह मेडा, रूपसिंह डामोर, कलावती गेहलोद अममालसिंह डामोर, यामिन शेख, हेमचंद डामोर, बन्दु अग्नीहोत्री, चन्द्रवीर सिंह राठौर, आशिष भूरिया, कैलाश डामोर, गौरव सक्सेना, विनय भाबोर ब्लाक कांग्रेस, शहर कांग्रेस, महिला कांग्रस कमेटी की समस्त पदाधिकारियों ने समिति के गठन पर हार्दिक बधाई दी हैं । 

राष्ट्र गौरव महाराणा प्रताप,एवं अहिंसा वीरो का आभूषण है विषय पर व्याख्यान माला का आयोजन 27 अप्रैल शुक्रवार को

jhabua news
झाबुआ । जैन सोशल ग्रुप झाबुआ एवं आरोग्य भारती झाबुआ शाखा के तत्वाधान में क्रमशः अहिंसा वीरो का आभूषण है एवं राष्ट्र गौरव महाराणा प्रताप विषय पर व्यख्यान माला का आयोजन दिनाक 27 अप्रैल शुक्रवार को किया जाएगा।इस व्यख्यान माला में मुख्य वक्ता के रूप में विश्व हिन्दू परिषद के अंतर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रीमान हुकुमचंद जी सावला उपस्तिथि हो कर बौद्धिक प्रधान करेंगे। सर्वप्रथम अहिंसा वीरो का आभूषण है विषय पर व्यख्यान का आयोजन झाबुआ के स्थानीय बावन जिनालय मंदिर के गुरु मंदिर हाल में शाम 7 से 8 बजे तक आयोजित किया जाएगा,इसके ठीक बाद राष्ट्र गौरव महाराणा प्रताप विषय पर व्यख्यान का आयोजन झाबुआ की स्थानीय केशव विद्यापीठ स्कूल प्रांगण में रात्रि 8 बजे से 9 बजे तक किया जाएगा। जैन सोशल ग्रुप की और से श्री राजेन्द्र जी संघवी(अध्यक्ष) एवं आरोग्य भारती की और से डॉ चारुलता दावे(कार्यवाहक अध्यक्ष) ने अधिक से अधिक संख्या में पधारकर व्यख्यान को श्रवण करने और कार्यक्रम को सफल बनाने का आग्रह किया है।

पंचायत सचिव की सेवाकाल में मृत्यु की दशा में अनुकम्पा नियुक्ति के संबंध में प्रकरण का निराकरण 15 दिवस में करे

झाबुआ । म0प्र0 पंचायत राज सेवा नियम-2011 के तहत नियुक्त ग्राम पंचायत सचिव की सेवाकाल में मृत्यु होने की दशा में आश्रित परिवार के सदस्य को अनुकम्पा नियुक्ति देने संबंधी पूर्व प्रसारित दिशा निर्देश के परिप्रेक्ष्य में स्थिति स्पष्ट करते हुये अनुकम्पा नियुक्ति दिनांक 1 अप्रैल 2008 के पश्चात मृत्यु की तिथि का प्रथम वरियता देते हुये मृतक सचिव के परिजन को नियमानुसार अनुकम्पा नियुक्ति दिये जाने का लेख किया गया है। प्रसारित निर्देश के परिप्रेक्ष्य में सीईओ/जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे ने सभी जनपद सीईओं को निर्देशित किया है कि अपनी जनपद पंचायत में पदस्थ रहे पंचायत सचिवों में से  1 अप्रैल 2008 के पश्चात के ऐसे पंचायत सचिव के आश्रित को अनुकम्पा प्रदान करने हेतु निर्धारित आवेदन पत्र प्राप्त कर 15 दिवस में जिला पंचायत कार्यालय को प्रेषित करे।

एम पी ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल पर 5 करोड आवेदनों का निराकरण

झाबुआ । प्रदेश में लोक सेवाएं प्राप्त करना अब नागरिकों का अधिकार है, कोई याचना का विषय नहीं है‘‘ यह बात प्रदेश के मुख्यमंत्री ने प्रदेश में वर्ष 2010 में लोक सेवा गारंटी कानून को लागू करते समय कही थी तत्कालीन सेवा प्रदाय प्रक्रिया और स्थापित नीतियों के सन्दर्भ में एक क्रांतिकारी कदम था, इस प्रयास के साथ मध्यप्रदेश ने लोक सेवाओं के प्रदाय के क्षैत्र में देश में एक नया अध्याय जोडा और इस पहल से देश में शासन से रोजमर्रा के पडने वाले कामो को लेकर नए सिरे से चर्चा प्रारंभ हो गई पहली बार सरकार ने लोक सेवा गारंटी कानून के अंतर्गत प्रदेश में लोक सेवाओं को निश्चित समय सीमा में दिया जाना सुनिश्चित किया, और इसे संबंधित विभाग और अधिकारियों की जिम्मेदारी के साथ भी जोडा। आधारभूत संरचना और सूचना तकनीक के बेहतर सामजस्य से प्रदेश में लोक सेवा गारंटी कानून के अंतर्गत लोक सेवा केन्द्रो के माध्यम से नागरिकों के 5 करोड आवेदनो का निराकरण कर लोक सेवा प्रबंधन विभाग द्वारा उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल की गई है। वर्ष 2010 में लोक सेवा गारंटी कानून लागू होने के बाद सबसे बडी चुनौती इसके क्रियान्वयन की थी। शासकीय विभागों की सीमित क्षमता के चलते सेवा आवेदनों का निराकरण एक बडी चुनौती थी। मध्यप्रदेश शासन द्वारा इसे दृष्टिगत रखते हुये वर्ष 2012 में लोक सेवा केन्द्रो की स्थापना का निर्णय लिया गया और प्रदेश में तहसील स्तर तक पीपीपी माॅडल पर 413 सुविधायुक्त लोक सेवा केन्द्रो की स्थापना की गयी। इन केन्द्रो पर नागरिकों से सेवा आवेदन प्राप्त करके उनका समय-सीमा में निराकरण करने के लिए आवश्यक सुविधाएॅ भी उपलब्ध कराई गई। इन केन्द्रो की स्थापना से जहां एक ओर नागरिको को लोक सेवाओं की प्रदाय प्रक्रिया में विश्वास सुद्धढ हुआ वहीं दूसरी और विभागों की क्षमताओं में भी वृद्धि हुई। नागरिकों की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुये वर्ष 2016 में राज्य शासन द्वारा लिए गए नीतिगत निर्णय अनुसार अब प्रमुख नागरिक सेवाओं को 12000 एमपीआॅनलाइन कियोस्क और 34000 काॅमन सर्विस सेंटर द्वारा भी प्रदाय किया जा रहा है।

मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम अंतर्गत समूहों द्वारा प्रदाय भोजन की गुणवत्ता परखने का दायित्व बी आर सी को

झाबुआ । मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम अंतर्गत प्राथमिक शाला/माध्यमिक शालाओं में संचालित स्वयं सहायता समूहों द्वारा प्रदाय भोजन के संबंध में प्राप्त हो रही शिकायतों जैसे स्वयं सहायता समूहों द्वारा बच्चों को भोजन नियमित एवं मीनू अनुसार नहीं दिया जा रहा है, में कमी आये और बच्चों को नियमित गुणवत्तापूर्ण भोजन मिल सके। इसके लिए मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे ने सभी बीआरसी को शालाओं का निरीक्षण करने हेतु आदेशित किया है। साथ ही अधीनस्थ अधिकारी/कर्मचारीयों को भी निर्देशित करने को कहा है कि वे भी समय-समय पर शालाओं का निरीक्षण करे।

एएसमाधान एक दिवस में हुआ तत्काल समाधन
  
झाबुआ । समाधान एक दिवस मे आज लोक सेवा केन्द्र राणापुर में दोपहर 1ः30 बजे तक कुल 09 आवेदन खाता खसरा, 1 आवेदन खसरा बी-1 एवं 1 आय प्रमाण-पत्र का प्राप्त हुआ । जिसका तत्काल निराकरण किया गया ।

जिले मे 26 अप्रैल तक 274496.50 क्विंटल गेहूॅ खरीदा गया
  • किसानो को 476251427.50 रूपये का हुआ भुगतान

झाबुआ । जिला आपूर्ति अधिकारी श्री एम के त्यागी ने बताया कि जिले में 21 खरीदी केन्द्रो पर किसानो से गेहूं 15 मार्च से खरीदी प्रारंभ की गई है। जिले में अब तक 274496.50 क्विंटल गेहॅू सरकार द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर खरीदा गया एवं किसानो को ई. पेमेट के माध्यम से 476251427.50 रूपये का भुगतान किया गया।

जिले में इन 21 केन्द्रो पर हो रहा गेहूॅ उपार्जन
जिले के 21 खरीदी केन्द्रो पर किसानो से गेहूॅ खरीदी का कार्य किया जा रहा है। सहकारी विपणन संस्था मर्या0झाबुआ, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रानापुर, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रजला, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था पारा, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था कालीदेवी, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था झाबुआ, सहकारी विपणन संस्था मेघनगर, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था कल्याणपुरा, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था मेघनगर, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था नौेगांवा,  सहकारी विपणन संस्था मर्या0 थांदला,  सहकारी संस्था थांदला, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था खवासा, सहकारी विपणन संस्था मर्या0 पेटलावद, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था पेटलावद, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था रायपुरिया, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था बामनिया, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था झकनावदा, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था सारंगी, आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था करवड, सहकारी सेवा विपणन संस्था मर्या0 रानापुर, में किसानो के पंजीयन एवं गेहूॅ खरीदी संबंधी कार्य किया जा रहा है।

अब उपार्जन केन्द्र स्तर से किसानो को भेजे जा रहे एसएमएस
प्रदेश में समर्थन मूल्य पर गेहूॅ उपार्जन के लिये किसानो को उपार्जन केन्द्र पर किस दिन पहुॅचना है इसका एसएमएस अब किसानो को उर्पाजन केन्द्र स्तर से किया जा रहा है। अब उर्पाजन केन्द्र प्रभारी, समिति किसानो को चिन्हित कर उर्पाजन केन्द्र पर गेहूॅ उपार्जन के लिये उतने ही किसानो को संबंधित दिन पर पहुॅचने के लिये एसएमएस भेज रहे है,जितने की व्यवस्था आसानी से उपार्जन केन्द्र पर हो सके।

ग्राम स्वराज अभियान अंतर्गत 28 अप्रैल को ग्राम स्वराज दिवस मनाया जाएगा
      
झाबुआ । ग्राम स्वराज अभियान अंतर्गत 5 मई तक विभिन्न दिवसों का आयोजन कर हितग्राहियों को लाभांवित किया जाएगा। आयोजित होने वाले  विभिन्न दिवसों अंतर्गत  जिले में 28 अप्रैल 2018 को ग्राम स्वराज दिवस, 30 अप्रैल 2018 को आयुष्मान भारत दिवस, 2 मई 2018 को किसान कल्याण दिवस तथा 5 मई 2018 को आजीविका दिवस का आयोजन किया जाएगा।

देशी एवं विदेशी शराब के मूल्य में हुई वृद्धि

झाबुआ । श्री अभिषेक तिवारी, जिला आबकारी अधिकारी जिला झाबुआ द्वारा बताया गया कि शासन द्वारा देशी शराब एवं विदेशी शराब के न्यूनतम एवं अधिकतम विक्रम मूल्य में परिवर्तन किया गया है। जिससे मंदिरा के मूल्य में गतवर्ष की अपेक्षा इस वर्ष 1 अप्रैल 2018 से वृद्धि हुई है। इस वृद्धि के कारण देशी एवं विदेशी मदिरा के ठेकेदारो द्वारा दुकान से विक्रय की जाने वाली शराब के मूल्य बढा दिए गये है। इस मूल्य वृद्धि के कारण कई शराब का उपभोग करने वाले व्यक्तियों द्वारा विभाग को एवं सी.एम. हेल्प लाईन पर शिकायतें की जा रही है। इस संबंध में श्री अभिषेक तिवारी, जिला आबकारी अधिकारी द्वारा बताया गया कि ठेकेदारो द्वारा शासन द्वारा निर्धारित न्यूनतम एवं अधिकतम विक्रय मूल्य के अनुसार ही शराब का विक्रय किया जा रहा है। दुकानो में रखी मदिरा लेबल पर दर्ज एम.एस.पी एवं एम.आर.पी. पूर्व वर्ष के मुद्रित है। जिसे शासन द्वारा ठेकेदारो को 30 जून 2018 तक विक्रय करने की अनुमति दी गई है। 1 जुलाई 2018 से संशोधित विक्रय मूल्य मुद्रित लेबल की मंदिरा ही विक्रय की जावेगी। इसके उपरांत भी यदि किसी व्यक्ति को मूल्य के संबंध में कोई जानकारी लेना हो तो वह जिला आबकारी कार्यालय जिला झाबुआ से अवकाश के दिनों को छोडकर अन्य किसी भी दिन कार्यालयीन समय में जानकारी प्राप्त कर सकता है।

नीलेश को मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना मे 27 हजार मिले
     
jhabua news
झाबुआ । राज्य शासन द्वारा मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चैहान की पहल पर लागू की गयी मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना का झाबुआ जिले में प्रभावी क्रियान्वयन किया जा रहा है। यह योजना किसानों के लिये अपार खुशियां लायी है। जिले के किसान निलेश पिता नंदलाल निवासी करडावद ब्लांक पेटलावद जिला झाबुआ को प्रोत्साहन राशि मिलने से बेहद खुशी मिली है। हॉल ही में राज्य शासन द्वारा लागू की गई मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना के तहत झाबुआ जिले में 4 हजार 444 किसानों को जिन्होंने गत रबी में समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचा था, उन्हें 200 प्रति क्विंटल के मान से 5 करोड रूपये से अधिक की राशि प्रोत्साहन स्वरूप दी गयी है। यह राशि उनके बैंक खाते में जमा करायी गई। इन्हीं लाभान्वित किसानों में से एक है झाबुआ जिले केे ग्राम करडावद में रहने वाले निलेश पिता नंदलाल जिन को 27 हजार रूपये प्रोत्साहन राशि मिली प्रोत्साहन राशि मिलने से वे बेहद खुश है। उनहोने मुख्यमंत्रीजी के प्रति आभार व्यक्त किया है।    निलेश पिता नंदलाल ने बताया कि प्रोत्साहन राशि मिलने से हमें खेती में बेहद लाभ होगा। प्रोत्साहन राशि का उपयोग हम अपने खेती व्यवसाय को उन्नत बनाने में करेंगे। राशि का उपयोग खाद, बीज सहित अन्य कृषि आदानों को खरीदने में करेंगे। खेत में सिंचाई के साधन बढायेगे अच्छे खाद-बीज खरीदेंगे तो हमें अच्छा उत्पादन और बेहतर उत्पादकता मिलेगी। इससे हमारी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।  
एक टिप्पणी भेजें
Loading...