जाति, धर्म व क्षेत्र की राजनीति से जनता थक चुकी है : वरुण गांधी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 1 अप्रैल 2018

जाति, धर्म व क्षेत्र की राजनीति से जनता थक चुकी है : वरुण गांधी

people-have-tired-of-politics-caste-religion-and-region-varun-gandhi
सुल्तानपुर, 31 मार्च, भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) नेता एवं सुल्तानपुर के सांसद वरुण गांधी ने आज यहॉ कहा कि हिंदू-मुसलमान, जात-पात की और क्षेत्रवाद की राजनीति से लोग थक चुके हैं। अपने दौरे के दूसरे दिन आज यहां श्री गांधी ने कहा कि बहुत दिनों से इस देश में हिंदू-मुसलमान की राजनीति हुई, जात-पात की राजनीति हुई, क्षेत्रवाद की राजनीति हुई लेकिन अब लोग इससे थक चुके हैं। ख़ासकर जो नौजवान हैं। उन्होंने नसीहत भरे शब्दों में कहा कि हमारे धर्म और आस्थाए अलग हैं, लेकिन घर-बच्चों के लिये सोच एक है। बिल्कुल उसी तरह जब क्रिकेट के मैच में टीम इंडिया जीतती है तो हम सब खुश होते है।  उन्होंने कहा कि आप परमात्मा को किसी शब्द से बुलाइए। उन्होंंने एक मनोवैज्ञानिक की तरह समझाते हुए कहा कि सबसे बड़ी ताकत प्यार की है, उससे बड़ी कोई ताक़त नहीं। हम सब अपने गुस्से को थूकें, एक-दूसरे से हमको जो चीज़ें अलग करती हैं वह थूकें और देश को और मज़बूत करें। देश किसी लकीर का नाम नहीं, देश हमारे अंदर है, हम सब इसे एक साथ आगे बढ़ायें। अपने राजनीतिक कैरियर के बारे में विचार रखते हुए उन्होंंने कहा, “मैं राजनीति नाम-पैसे कमाने के लिये नहीं करता हूं, लोगों का बोझ हल्का करने के लिये करता हूं।”
एक टिप्पणी भेजें
Loading...