विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 07 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 7 अप्रैल 2018

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 07 अप्रैल

उपार्जन कार्यो का जायजा

vidisha news
भोपाल संभागायुक्त श्री अजातशत्रु श्रीवास्तव ने शनिवार को विदिशा जिले में क्रियान्वित उपार्जन व्यवस्थाओं की समीक्षा सर्किट हाउस में की। उक्त बैठक में कलेक्टर श्री अनिल सुचारी जिला पंचायत सीईओ श्री दीपक आर्य, अपर कलेक्टर श्री एचपी वर्मा समेत उपार्जन कार्यो को क्रियान्वित करने वाले विभागों के अधिकारी मौजूद थे। संभागायुक्त श्री श्रीवास्तव ने कहा कि उपार्जन कार्यो में मुख्य रूप से इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि एसएमएस प्राप्ति के उपरांत फसल को लेकर आने वाले किसानों को किसी भी प्रकार की असुविधाओं का सामना ना करना पडे़। उन्होंने उपार्जन केन्द्रोें पर मुहैया कराई जाने वाली बुनियादी सुविधाओं एवं व्यवस्थाओं के परिपेक्ष्य में क्रियान्वित व्यवस्थाओं की पूछताछ की। संभागायुक्त श्री श्रीवास्तव ने उपार्जन केन्द्रों पर तुलाई के उपरांत गेहूं को वेयर हाउसों में भण्डारित करने तथा किसानों को विक्रय फसल की भुगतान राशि बैंको से अविलम्ब प्राप्त हो सकें। इसके लिए क्रियान्वित व्यवस्थाओं की बिन्दुवार जानकारी उन्होंने प्राप्त की।संभागायुक्त श्री श्रीवास्तव ने मंडियो के सचिवों को निर्देश दिए कि उपार्जन केन्द्रों पर पर्याप्त संख्या में छन्ना, पंखों की व्यवस्था के साथ-साथ जनरेटर और तिरपाल इत्यादि की व्यवस्थाएं पूर्व में ही सुनिश्चित की जाएं।जिले में दस अपै्रल से चना, मसूर, सरसो की खरीदी कार्य शुरू होगा। इसके लिए निर्धारित 37 उपार्जन केन्द्रो पर की जाने वाली व्यवस्थाओं की समीक्षा उनके द्वारा की गई। उन्होंने कहा कि मंडियों के परिक्षेत्र मंे आने वाले ग्रामों के कृषकों के द्वारा ली गई फसलों के आंकडे तथा सहायक भू-अभिलेख के रिकार्ड में दर्ज फसलों के आंकडो से मिलान होना चाहिए। संभागायुक्त श्री श्रीवास्तव ने जिले में गेहूं और अन्य फसलों के उपार्जन हेतु निर्धारित सर्वेक्षित लक्ष्य के अनुसार भण्डारण के लिए किए गए प्रबंधों की जानकारियां दी गई। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मंडी में फसल विक्रय करने हेतु आने वाले किसानों को पांच रूपए थाली में पर्याप्त स्वादिष्ट भोजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था क्रियान्वित की जाए। उन्होंने चने की मेपिंग के लिए गांववार सूची, मंडीवार लक्ष्य इत्यादि के संबंध में भी जानकारियां प्राप्त की। संभागायुक्त ने कहा कि सर्वेयर भोपाल से आएंगे। अतः स्थानीय निर्वाचन प्रक्रिया के अनुरूप सर्वेयर के साथ स्थानीय स्तर के अधिकारी, कर्मचारी को संलग्न करंे ताकि समय पर तमाम जानकारियां सर्वेयरों को मिलती रहें। कलेक्टर श्री सुचारी ने अब तक हुए उपार्जन कार्यो की बिन्दुवार जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एसएमएस प्राप्त किसानों से ही समर्थन मूल्य पर फसल क्रय करने का कार्य किया जा रहा है। भण्डारण और किसानों को भुगतान के संबंध में की गई व्यवस्थाओं से भी उन्होंने अवगत कराया। कलेक्टर श्री सुचारी ने बताया कि गेहूं के लिए 136$सायलो केन्द्र पर क्रय किया जा रहा है इसके अलावा चना फसल के लिए पृथक से 37 केन्द्रों पर उपार्जन कार्य किया जाएगा। चना गुणवत्ता क्वालिटी का हो इसके लिए परीक्षण और साफ सफाई के लिए मंडियों को पर्याप्त बडी साइज के छन्ने खरीदने हेतु निर्देशित किया जा चुका है। उपार्जन केन्द्रों पर समर्थन मूल्य की दरों का प्रदर्शन फ्लैक्स के माध्यम से किया जा रहा है। 

पेयजल की आपूर्ति सतत बनी रहें-कमिश्नर

भोपाल संभागायुक्त श्री अजातशत्रु श्रीवास्तव ने शनिवार को विदिशा में पेयजल आपूर्ति के लिए किए गए प्रबंधों की जानकारी प्राप्त की। विदिशा के सर्किट हाउस में हुई इस बैठक में विदिशा नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरन सिंह दांगी के अलावा जनपदों के अध्यक्ष एवं पंचायतों के प्रतिनिधि मौजूद थे। संभागायुक्त ने जनप्रतिनिधियों से सीधे संवाद स्थापित कर क्षेत्रों में पेयजल हेतु किए गए प्रबंधो के साथ-साथ संभावित प्रयासों की जानकारियां प्राप्त की। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री ने बिगडे हेण्ड पंपो की त्वरित सूचना प्राप्ति हेतु किए गए प्रबंधों खासकर कंट्रोल रूमों के संचालन की जानकारी दी। वही पेयजल आपूर्ति के लिए उपलब्ध सामग्रियों का उनके द्वारा रेखांकन किया गया है। कलेक्टर श्री सुचारी ने आश्वस्त कराते हुए कहा कि जिले में किसी भी प्रकार से पेयजल संकट की स्थिति निर्मित नही होने दी जाएगी। ऐसे बोर जिनमें पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध है उनमें सिंगल फेस की मशीन डालकर स्पाॅट पर ही पेयजल सप्लाई की व्यवस्था की जाएगी। निकाय क्षेत्रों मंे की गई व्यवस्थाओं की जानकारी स्थानीय अध्यक्षों द्वारा दी गई है। 

ऊर्जा
संभागायुक्त ने जिले मेें बिजली आपूर्ति के लिए किए गए प्रबंधों की जानकारियां जनप्रतिनिधियों के समक्ष जानी। मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के अधीक्षण यंत्री श्री जोस के पुजांत ने बताया कि आभा विद्युत मित्र योजना विदिशा जिले में पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में संचालित हो रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत देयको और बकाया की राशि समय पर मिले तथा विद्युत उपभोक्ताओं को बिलों की प्राप्ति हो इन्ही तीन उद्वेश्यों की प्राप्ति के लिए प्रायोगिक तौर पर विदिशा जिले में आभा विद्युत मित्र योजना दस ग्रामों में संचालित की जा रही है। इस कार्य में गांव की ही ऐसी महिलाएं जो आजीविका मिशन के तहत समूह से जुड़ी है को दायित्व सौंपे गए है। बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा विद्युत आपूर्ति में होने वाली परेशानियों, विद्युत देयकों, टूटे हुए विद्युत पोलो को सुधारने तथा विद्युत लाइन दुरूस्त करने इत्यादि शिकायतों के माध्यम से जानकारियां संभागायुक्त को दी गई। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों के द्वारा दी गई जानकारी की उपेक्षा विभाग के अधिकारी कदापि ना करें। उन्होंने कार्यो में सुधार करने पर बल देेने के निर्देश इस दौरान दिए।

राजस्व अधिकारियों के अवकाश पर प्रतिबंध

मुख्य सचिव द्वारा गत दिवस वीडियो काफ्रेसिंग में दिए गए निर्देशों के अनुपालन में भोपाल संभागायुक्त श्री अजातशत्रु श्रीवास्तव ने भोपाल संभाग के अंतर्गत आने वाले जिले क्रमशः भोपाल, सीहोर, रायसेन, राजगढ एवं विदिशा जिले में पदस्थ राजस्व अधिकारियों के अवकाश एवं मुख्यालय छोडने पर प्रतिबंध लगाने के आदेश जारी कर दिए है। उक्त आदेश 14 अपै्रल तक प्रभावशील रहेगा। आदेश में उल्लेखित है कि राजस्व अधिकारी अवकाश पर ना जाए और साथ ही मुख्यालय ना छोड़े। उक्त अवधि में अपर जिला दण्डाधिकारी, अनुविभागीय दण्डाधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार के अवकाश स्वीकृत नही किए जाएंगे। इसी प्रकार के प्रतिबंध पटवारी एवं राजस्व निरीक्षकों पर भी प्रभावशील होंगे। संभागायुक्त ने इस दौरान जिला दण्डाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को अपने जिले से संबंधित विभिन्न जातियों के प्रतिनिधियों से संवाद बनाए रखने तथा कोई अप्रिय स्थिति निर्मित ना हो इस हेतु सतत निगरानी बनाए रखने के भी निर्देश दिए है।

प्रभारी प्रधानाध्यापक निलंबित

जिला शिक्षा अधिकारी श्री एचएन नेमा के द्वारा शासकीय स्कूलांे का सतत निरीक्षण किया जा रहा है खासकर शासन द्वारा संचालित जाॅयफुल लर्निंग गतिविधियों पर विशेष बल उनके द्वारा दिया जा रहा है। जिला शिक्षा अधिकारी श्री नेमा ने शनिवार सात अपै्रल को विदिशा विकासखण्ड की प्राथमिक शाला पांझ का निरीक्षण किया। यहां 16 बच्चे उपस्थित पाए गए साथ ही जाॅयफुल लर्निंग गतिविधियों का संचालन नही करने के फलस्वरूप शासकीय आयोजन के प्रति लापरवाही बरतने के कारण प्रभारी प्रभारी प्रधानाध्यापक श्री दिलीप सिंह जाट को तत्काल निलंबित करने एवं सहायक शिक्षक श्री अजय सिंह रघुवंशी को कारण बताओ पत्र जारी किया गया है। 

नरवाई में आग लगाने वालो के खिलाफ दण्डात्मक कार्यवाही होगी

खेतों में खडी नरवाई में आग लगाने वालो के खिलाफ दण्डात्मक कार्यवाही होगी। नरवाई में आग लगाने से जनधन के साथ-साथ शासकीय परिसम्पत्ति और वन संपदा की भी क्षति होने का खतरा बना रहता है। मानव जीवन की सुरक्षा एवं परिशांति बनाए रखने को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर एवं जिला मजिस्टेªट श्री अनिल सुचारी ने धारा-144 के तहत आदेश जारी कर सभी उपखण्ड मजिस्टेªट, कार्यपालिक मजिस्टेªट तथा कृषि विभाग के अधिकारियों को जारी आदेश का अक्षरशः पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश प्रसारित किए है। आदेश में कहा गया है कि नरवाई काटने हेतु रीपर वाईपर का और अग्निशामक यंत्र का अग्नि विस्तार रोकने के लिए व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाए। जिले के कृषकों से कहा गया है कि गेहूं की फसल कटाई के लिए हार्वेस्टर एवं रीपर वाइन्डर का उपयोग करने के पश्चात् थे्रसिंग करते समय जो भूसा निकला जाता है उसके आसपास अग्निशामक यंत्रों को अनिवार्यत रखंेे। जारी आदेश की सूचना सभी ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में अधिक से अधिक प्रचार प्रसार की जाए। इसके लिए ध्वनि विस्तार यंत्रो के उपयोग के साथ-साथ कार्यालयों के सूचना पटलों पर एवं पुलिस थानो के नोटिस बोर्ड पर आदेश की प्रति चस्पा की जाए। कलेक्टर एवं जिला मजिस्टेªट ने सभी अनुविभागीय अधिकारियांें से कहा है कि उनके क्षेत्राधिकार में नरवाई में आग लगने की सूचना प्राप्त होती है या आग लगने के बाद साक्ष्य के रूप में मौके पर आग लगाना पाया जाता है तो संबंधित के विरूद्व दण्डात्मक कार्यवाही की जाए और की गई कार्यवाही का पालन प्रतिवेदन जिला कार्यालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उक्त कार्यवाही में यदि किसी के द्वारा लापरवाही बरती जाती है तो उसके विरूद्व कार्यवाही की जाएगी।

हड्डी एंव जोडरोग उपचार षिविर 8 अप्रैल को
सेवाभारती भवन श्रीकृध्ण कालोनी दुर्गानगर में 8 अप्रैल को सुबह 10 बजे से हड्डी, जोड रोग से पीड.ीत मरीजों के उपचार के लिये षिविर आयोजित किया गया हैं। इस षिविर मे भोपाल के चिकित्सा विषेषज्ञ डाॅ, विषाल बंसल दृारा किया जायेगा। सेवा भारती के अध्यक्ष डाॅ प्रकाष पीतलिया ने ऐसे मरीज जो हड्डी के सभी प्रकार के रोगों से पीड.ीत हो, जोडो मेें दर्द रहता हो या घुटनो मे सूजन रहती हो कंधे मे दर्द साइटिका कमर दर्द बाले मरीज  षिविर का लाभ लेने के लिए अपना पंजीयन 8 अप्रैल को सुबह 10बजे से 11 बजे तक सेवा भारती भवन श्रीकृध्ण कालोनी दुर्गानगर में करा सकते हैं। विदिषा से बाहर के मरीज अपना पंजीयन मोबाइ्रल नं.9827720892 पर करा सकते हैं।

‘‘उम्मीद‘‘ का नवीन स्थान पर शुभारंभ 9 को दिव्यांग बच्चों के षिक्षण-प्रषिक्षण पुनर्वास को समर्पित है उम्मीद संस्था

विदिषा 7 अपै्रल 2018/ दिव्यांग बच्चों के षिक्षण-प्रषिक्षण तथा पुनर्वास को समर्पित संस्था ‘‘उम्मीद‘‘ षिक्षण समिति सहित वृद्धजनों की सेवा-सुश्रूषा को संकल्पित श्री राधा-किषन सेवा समिति डे-केयर वृद्धाश्रम सेन्टर नवीन स्थान पर स्थानांतरित होने जा रहे हैं। यह नवीन स्थान स्थानीय वार्ड नं. 36 में दुर्गानगर मैन रोड पर महाराणा प्रताप काॅलेज के बगल में है, जहां सोमवार 9 अपै्रल को अपराह्न 3 बजे संस्थाओं का विधिवत शुभारंभ होगा। इस अवसर पर आयोजित समारोह में नगरपालिका अध्यक्ष मुकेष टण्डन मुख्य अतिथि होंगे, जबकि कलेक्टर अनिल सुचारी अध्यक्षता करेंगे। जिला पंचायत अध्यक्ष तोरणसिंह दांगी, जिला पंचायत सीईओ दीपक आर्य, सामाजिक न्याय विभाग के उपसंचालक डाॅ. पी.के. मिश्रा तथा वरिष्ठ समाजसेवी अतुल शाह विषेष अतिथि होंगे। दोनों संस्थाओं द्वारा इस अवसर पर सबको सादर आमंत्रित किया गया है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...