बिहार : बेलछी में पानी के लिए हाहाकार 60 दिनों से पाइप में है सुराक - Live Aaryaavart

Breaking

रविवार, 1 अप्रैल 2018

बिहार : बेलछी में पानी के लिए हाहाकार 60 दिनों से पाइप में है सुराक

water-crisis-bihar
चण्डी.सुशासन बाबू के 7 निश्चय पर लग गया है ग्रहण. ग्रहण लगाने वाले कोई गैर नहीं है बल्कि ग्रामीण जलापूर्ति केंद्र के ऑपरेटर शिवकुमार पासवान जी हैं. बताते चले कि बेलछी ग्राम पंचायत के मुखिया प्रत्याशी थे शिवकुमार पासवान. वे चुनाव के समय के अबाध गति से जलापूर्ति किया करते थे.ऑपरेटर ने ग्रामीणों को मयावी जाल में फंसाने लिये जलापूर्ति के प्रेसर को हाई करके रख दिया.इसको देखकर मिल्की पर, पश्चिमी टोला, दुसाद टोली आदि के लोग घर-घर नल का जल लेने के लिये पाइप संयोजन कराने लगे. करीब दो महीने तक चार फीट ऊपर तक पाइप से पानी गिर जाता था. बताते चले कि मुखिया प्रत्याशी शिवकुमार पासवान बुरी तरह से पराजित हो गये.इनको मृत्युंजय कुमार ने पराजितकर मुखिया की कुर्सी हथिया लिये.इस तरह उनका  चुनाव में हार जाने के साथ नेतागिरी का पानी उतर गया. पराजित होने पर बौखलाकर लोगों को सबक सीखाने पर उतारू हो गये. चुनाव में पानी उतर जाने के बाद से उपर्युक्त तीनों टोलों के संयोजन पाइप में' क्री' से हाई प्रेसर से लॉ प्रेसर में तब्दील कर दिया. लॉ प्रेसर में नल के पास लोग बैठकर पानी जमा करने को बाध्य हो गये.विकास मित्र रविंद्र कुमार कहते है कि नल को भूमिगत कर दिया गया है पर क्या मजाल है कि पानी गिरने लगे.बेलछी मोड़ के पास जलापूर्ति केंद्र है.जलमीनार भी है.उधर से आने पाइप में प्रेसर हाई है.जैसे-जैसे पाइप बढ़ा है.पाइप का प्रेसर लॉ होते चला जाता है.इसी पाइप में मोटर पाइप लगाकर पानी ही सोख लेते है.आधे दर्जन लोगों के पास  मोटर पाइप है.इसकी शिकायत लोगों द्वारा की जाती है. लोगों ने बताया कि साठ दिनों से सुखू पासवान के घर के पाइप में सुराक हो गया है. इसके कारण पानी निरंतर बहते रहता है.जहां बच्चे नहाते हैं.बच्चियां कपड़े धोती हैं.वहीं भर इच्छा जानवर पानी पीता है.जानवरों को पानी मिल जाये परंतु लोगों को नहीं मिल पा रहा है.  ऑपरेटर पक्षपात करने पर उतारू हैं.वह मोकिमपुर के रहने वाला हैं.अपने यहां के लोगों को व घरों में हाई प्रेसर का पानी पहुंचाने को प्रतिबद्ध है.और तो और खेत में पटवन करने की छूट कर दी है.
एक टिप्पणी भेजें
Loading...