दुमका : मेहनत करूँगा लगन से, धरा देखूँगा गगन सै-आदित्य आर्यन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 3 जून 2018

दुमका : मेहनत करूँगा लगन से, धरा देखूँगा गगन सै-आदित्य आर्यन

aryan-hope-12th-boaard
दुमका (आर्यावर्त डेस्क) 03 जून :  लक्ष्य की ओर सतत् बढ़ते रहने के की प्रक्रिया में सिर्फ मेहनत ही सबकुछ नहीं है। मेहनत व  लगन के साथ-साथ ईश्वरीय कृपा भी बराबर का होना जरूरी है तभी व्यक्ति अपने उद्देश्यों में सफल हो सकता है। 10 वीं आईसीएसई  परीक्षा 2018  में 80  प्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण हुए  संत जोसेफ स्कूल, बख्शी बांध दुमका के ब्रिलिएंट छात्र  आदित्य आर्यन को धीरे-धीरे अब सब कुछ में आने लगा है।  ग्यारहवीं में प्रवेश करने वाले छात्र आदित्य आर्यन  दुगुने उत्साह के साथ  आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं।  अलग-अलग विद्यालयों में 90 प्रतिशत प्लस कट आॅफ मार्क्स  देखकर आदित्य ने  यह प्रतिबद्धता दुहरायी कि आने वाले समय में वह अपने माता-पिता को शर्मिदंगी नहीं झेलने देगा। वह इतना मेहनत करेगा कि देखने वाले भी दंग रह जाऐंगे। तीक्ष्ण ज्ञान से युक्त आदित्य आर्यन आगे की पड़ाई के लिये काफी सजग और सतर्क है। वरीय अधिवक्ता व सीनियर पत्रकार पिता तथा पूर्व सदस्य स्थायी लोेक अदालत, दुमका श्रीमती शशिलता के पुत्र आदित्य आर्यन ने अपनी दादी, नाना,  बुआ,  मामी - मामा, बड़े पापा - बड़ी मम्मी ,  मौसी--मौसा,  माता-पिता को यह आश्वस्त कर दिया है कि आने वाला समय उसका है। इतना मेहनत करेगा कि लोग देखकर दंग रह जाऐगें
एक टिप्पणी भेजें