दिल्ली का प्रदूषण स्तर अब भी बना हुआ है ‘खतरनाक’ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 17 जून 2018

दिल्ली का प्रदूषण स्तर अब भी बना हुआ है ‘खतरनाक’

delhi-pollution-level-critical
नयी दिल्ली , 17 जून, दिल्ली के प्रदूषण स्तर में तेजी से गिरावट आ रही है , लेकिन आज छठे दिन भी राष्ट्रीय राजधानी का प्रदूषण स्तर ‘ खतरनाक ’ बना हुआ है।  प्रदूषण की निगरानी करने वाली एजेंसियों ने यह जानकारी दी। केंद्र द्वारा संचालित सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट (एसएएफएआर) ने बताया कि प्रदूषकों के तेजी से प्रसार के चलते राज्य में प्रदूषण ‘ खतरनाक ’ स्तर तक पहुंच गया है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार आज दिल्ली - एनसीआर में पीएम 10 (10 मिमी से कम व्यास वाले हवा में घुले खतरनाक सूक्ष्म कण) का स्तर 424 और दिल्ली में 420 दर्ज किया गया। एसएएफएआर में वैज्ञानिक गुफरान बेग ने बताया कि स्थानीय हवाओं के गति पकड़ने से प्रदूषकों के छंटने में तेजी आयी । इससे प्रदूषण के स्तर में गिरावट आयी और हवा की गुणवत्ता में सुधार हुआ। उन्होंने बताया कि हवा की गुणवत्ता में आगे और सुधार होने की आवश्यकता है। शहर में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 402 है , जो अब भी खतरनाक बना हुआ है। 0-50 के बीच एक्यूआई को ‘‘ अच्छा ’’ माना जाता है , 51-100 ‘‘ संतोषजनक ’’, 101-200 ‘‘ नियंत्रित ’’, 201-300 ‘‘ खराब ’’, 301-400 ‘‘ बेहद खराब ’’ और 401-500 ‘‘ खतरनाक ’’ माना जाता है।  बुधवार को दिल्ली - एनसीआर में पीएम 10 का स्तर 778 और दिल्ली में 824 पहुंच गया था , जो इस बात का संकेत है कि प्रदूषण ‘ गर्मी के मौसम की समस्या ’ भी हो सकती है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...