किसी भी तरह की हिंसा और साजिश का जवाब विकास है : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

गुरुवार, 14 जून 2018

किसी भी तरह की हिंसा और साजिश का जवाब विकास है : मोदी

development-answer-modi-in-raypur
रायपुर, 14 जून, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि किसी भी तरह की हिंसा और साजिश का एक ही जवाब, विकास है। प्रधानमंत्री ने छत्तीसगढ़ के एक दिवसीय प्रवास के दौरान भिलाई नगर के जयंती स्टेडियम में आमसभा को संबोधित किया। मोदी ने इस अवसर पर केन्द्र सरकार की ‘उड़ान’ योजना के तहत जनता को रायपुर से जगदलपुर तक यात्री विमान सेवा की सौगात दी। इस अवसर पर उन्होंने भिलाई इस्पात संयंत्र के आधुनिकीकरण और विस्तारीकरण परियोजना का लोकार्पण किया तथा केन्द्र सरकार की भारत नेट परियोजना के दूसरे चरण का शुभारंभ किया। मोदी ने इस दौरान भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) भिलाई नगर के विशाल भवन का शिलान्यास भी किया। प्रधानमंत्री ने जयंती स्टेडियम में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा,‘‘ हमारी सरकार की हर योजना देश के हर जन को सम्मान, सुरक्षा और स्वाभिमान का जीवन देने के लिए है। यही बड़ी वजह है कि छत्तीसगढ़ समेत देश के अन्य हिस्सों में रिकार्ड संख्या में जवान मुख्यधारा और विकास से जुड़े हैं।’’ उन्होंने कहा,‘‘मैं मानता हूं कि किसी भी तरह की हिंसा का, हर तरह की साजिश का एक ही जवाब है, विकास। विकास से विकसित हुआ विश्वास हर तरह की हिंसा को खत्म कर देता है।’’ मोदी ने कहा कि इसीलिए हमारी राजग की सरकार और छत्तीसगढ़ में डाक्टर रमन सिंह की सरकार ने विकास के माध्यम से विश्वास का वातावरण बनाने का प्रयास किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में विकास के अनगिनत काम हुए हैं। आज 22 हजार करोड़ रूपए की योजनाओं का उपहार आप लोगों को समर्पित कर रहा हूं। इन कार्यों से यहां रोजगार और शिक्षा के अवसर पैदा होंगे। यह योजनाएं यहां आवाजाही के आधुनिक साधन देने वाली है तथा पिछड़े क्षेत्रों को संचार की आधुनिक तकनीक से जोड़ने वाली है। मोदी ने कहा कि जब छत्तीसगढ़ की बात आती थी तब बम, बंदूक, पिस्तौल तथा हिंसा की बात आती थी। आज छत्तीसगढ़ की बात जगदलपुर के हवाई अड्डे से जुड़़ गई है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के विकास के पीछे अटल जी का विजन और यहां के निवासियों का कठोर परिश्रम है। इस राज्य को तेज गति से आगे बढ़ते देखना सुखद अनुभव है। अटल जी के विजन को परिश्रम के साथ मुख्यमंत्री रमन सिंह ने आगे बढ़ाया है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि विकास और प्र​गति के लिए शांति, कानून व्यवस्था और सामान्य जीवन की व्यवस्थाएं जरूरी है। मुख्यमंत्री रमन सिंह ने एक तरफ शांति, स्थिरता, कानून व्यवस्था पर बल दिया है वहीं दूसरी ओर राज्य को विकास की नई ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए नई योजनाएं प्रारंभ की है। यहां विकास के कार्यों को आगे बढ़ाया है। भिलाई इस्पात संयंत्र के आधुनिकीकरण और विस्तारीकरण परियोजना के लोकार्पण को लेकर प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका सौभाग्य है कि उन्हें इस कार्य का अवसर मिला। भिलाई इस्पात संयंत्र ने केवल स्टील ही नहीं बनाया है बल्कि देश की जिंदगी बनाई है तथा समाज को संवारा है। देश को भी बनाया है।

उन्होंने कहा कि उन्हें विश्वास है कि बस्तर के नगरनार में एनएमडीसी का इस्पात संयंत्र स्थापित हुआ है, वह भी वहां के लोगों के जीवन में बदलाव लाएगा। वहां विकास होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य के विकास में इस्पात के साथ लौह अयस्क और अन्य खनिजों ने भी बड़ी भूमिका निभाई है। इस पर यहां के निवासियों और आदिवासियों का भी अधिकार है। प्रधानमंत्री ने कहा,‘‘ हमारी सरकार बनने के बाद हमने कानून में बदलाव किया। सुनिश्चित किया जो भी खनिज निकलेगा उससे होने वाली आय का एक हिस्सा वहां के निवासियों के विकास में खर्च होगा। इसके लिए डिस्ट्रिक्ट मिनरल फाउंडेशन की स्थापना की गई। छत्तीसगढ़ को इससे तीन हजार करोड़ रूपए से ज्यादा की राशि प्राप्त हुई है। जो यहां के विकास में खर्च हो रहा है।’’ मोदी ने कहा कि यहां आईआईटी की कमी महसूस हो रही थी। मुख्यमंत्री रमन सिंह आईआईटी स्थापना के लिए लगातार कोशिश कर रहे थे। लेकिन पूर्ववर्ती सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया। बाद में जब राजग की सरकार बनीं तब हमने छत्तीसगढ़ समेत पांच नई आईआईटी बनाने का फैसला किया। भिलाई में 11 सौ करोड़ रूपए की लागत से बन रहा आईआईटी विद्यार्थियों के लिए तकनीकी शिक्षा का तीर्थ बनेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में डिजिटल इंडिया को बढ़ावा दिया जा रहा है। आज भारत नेट परियोजना के दूसरे चरण की शुरूआत की जा रही है। चार हजार पंचायत तक इंटरनेट पहुंच चुका है। अगले वर्ष तक छह हजार गावों तक इंटरनेट पहुंच जाएगा।

मोदी ने कहा कि इन सभी योजनाओं के माध्यम से गरीब, आदिवासी, शोषित और पीड़ित के सशक्तिकरण की मजबूत नींव तैयार हो रही है। डिजिटल तकनीक लोगों को भी जोड़ रही है। जल थल और नभ से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा,‘‘ पुरानी सरकारें जहां सड़क बनाने से पीछे रह जाती थी वहां आज सड़कों के साथ ही हवाई अड्डे भी बन रहे हैं। मेरा सपना था कि हवाई चप्पल पहनने वाला हवाई जहाज में यात्रा कर सके।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार की नीतियों का ही असर है कि अब ट्रेन के एसी डिब्बे से ज्यादा यात्री हवाई जहाज की यात्रा कर रहे हैं। जहां रायपुर में पहले छह उड़ान आती थी अब एक दिन में 50 उड़ानें आ जा रही है। इससे दूरी तो घटेगी ही, यहां पर्यटन बढ़ेगा, उद्योग धंधे बढ़ेंगे तथा रोजगार के नए अवसर बढ़ेंगे। मोदी ने नया रायपुर में एकीकृत कमांड और नियंत्रण केन्द्र के लोकार्पण को लेकर कहा कि नया रायपुर देश का पहला ग्रीनफील्ड स्मार्ट सीटी बन रहा है। वहां इस सेंटर से पूरे शहर की निगरानी की जा सकेगी। नया रायपुर देश के अन्य शहरों के लिए मिसाल बन रहा है। जिस राज्य की पहचान पहले पिछड़े, आदिवासी और जंगल से था अब उसकी पहचान स्मार्ट सीटी से बन रही है। उन्होंने कहा कि वह सौभाग्यशाली हैं कि दो माह में दूसरी बार उन्हें छत्तीसगढ़ आने का अवसर प्राप्त हुआ है। एक बार फिर यहां के लोगों का आशीर्वाद प्राप्त करने का अवसर मिला है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री रमन सिंह और केन्द्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने भी आम सभा को संबोधित किया।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...