बिहार : ग्रामीण बैठक में भूमि संबंधित मसले छाये रहे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 2 जून 2018

बिहार : ग्रामीण बैठक में भूमि संबंधित मसले छाये रहे

  • जनांदोलन 2018 में जाने का न्यौता भी

meeting-for-land
डूमर( बकिया).प्रगति ग्रामीण विकास समिति के सदस्यों द्वारा बकिया पश्चिमी मुसहरी टोले में आयोजित बैठक में भूमि संबंधित मसले छाये रहे.चम्पा देवी कहती हैं कि बिहार भूदान यज्ञ कमिटी द्वारा सवा एकड़ जमीन दी गयी है.पांच लोगों के नाम से जमीन का पर्चा है.रसीद भी कट रहा है.मगर सीमांकन नहीं हुआ है.समिति के सदस्यों के कथन पर चलकर हल्का कर्मचारी से मिले.हल्का कर्मचारी ने एक सप्ताह के अंदर सीमांकनकर पांचों के बीच बराबर बांट देंगे. सुनील ऋषि कहते हैं कि बिहार भूदान यज्ञ कमिटी द्वारा दी गयी जमीन पर कब्जा रहने के कारण परेशान थे.हल्का कर्मचारी ने कब्जा करने वाले लोगों से जमीन को मुक्त कर दिये हैं.रविवार को जमीन सुनील ऋषि के जिम्मे कर दी जाएगी. वार्ड नम्बर- 12 के पूर्व वार्ड  सदस्य रामलाल ऋषि ने कहा कि मेरे कार्यकाल में 12 मुसहर समुदाय के आवासीय भूमिहीनों को 3 डिसमिल जमीन दी गयी है.वह पूर्णत: गढ्डा में है.अबतक सीमांकन नहीं हुआ है.उसका सीमांकन करने के लिए समेली के सी.ओ. साहब के पास आवेदन दिया जाएगा.

वर्तमान वार्ड सदस्य बहादुर ऋषि ने कहा कि अभी भी मुसहरी टोला में आवासहीन है. 48 घंटे में सूची तैयार कर देंगे. इसके बाद बीडीओ को सूची दिया जा सकता है.सूची बेदाग बनेगा.जमीन है और सीओ.कार्यालय में जमीन देने संबंधी नाम है.उसको सूची में शामिल नहीं किया जायेगा. वार्ड सदस्य ने कहा कि आवासीय भूमिहीनों को 3 डिसमिल जमीन देने का प्रावधान है.अगर जमीन नहीं है तो क्रय करके देना है. समिति के सदस्यों ने बैठक में लोगों को 'जय जगत' करके अभिवादन किया.टोले के लोगों भी ऐसे ही कहकर अभिवादन करने को कह दिये.नवजवान व नवयुवतियों को कैडर प्रशिक्षण में चलने का आह्वान किये.2 अक्टूबर 2018 से पलपल (हरियाणा) से शुरू होने वाले जनांदोलन 2018 में चलने के लिए न्यौता दिये.राष्ट्रीय भूमि सुधार नीति बनाने के साथ  11 सूत्री  मांग है.
एक टिप्पणी भेजें
Loading...