प्रधानमंत्री को नक्सली खतरे की जांच हो, ओछी राजनीति नहीं : कांग्रेस - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 10 जून 2018

प्रधानमंत्री को नक्सली खतरे की जांच हो, ओछी राजनीति नहीं : कांग्रेस

no-dirty-politics-on-pm-security
नई दिल्ली, 9 जून, कांग्रेस ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नक्सलियों से होने वाले खतरे की जांच होनी चाहिए और इसका 'ओछी राजनीति' के लिए इसे इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, "अगर यह अफवाह है या संदेहास्पद लग रहा है तो भी प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर दी गई धमकी को हल्के में खारिज नहीं किया जा सकता।" उन्होंने कहा, "भारत के प्रधानमंत्री को दी गई धमकी का ओछी राजनीति के लिए इस्तेमाल नहीं करें।" खेड़ा ने कहा, "देश ने दो प्रधानमंत्रियों और नक्सल हिंसा में छत्तीसगढ़ के पूरे नेतृत्व को खोया है।" पुणे पुलिस ने गुरुवार को अदालत को बताया कि संदिग्ध नक्सली से प्राप्त पत्र से खुलासा हुआ है कि मोदी को भी 'राजीव गांधी की' की तरह जान से मारने की योजना थी। खेड़ा ने भाजपा को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि पार्टी को चुनाव में जीतने या हारने या सत्ता में होने पर कैसे व्यवहार करना है, यह पता ही नहीं है। उन्होंने कहा, "हम जानते हैं कि इसका मतलब क्या है, चाहे वह नक्सलवाद से लड़ने या आतंकवाद से लड़ने की बात हो। लेकिन इसपर राजनीति न करें। जब भाजपा सत्ता में थी, हमने छत्तीसगढ़ में अपना नेतृत्व खोया। क्या हमने इसके लिए राजनीति की थी? नहीं हमने नहीं की थी.. कृपया भगवान के लिए प्रधानमंत्री की सुरक्षा पर राजनीति न करें।"
एक टिप्पणी भेजें
Loading...