बिहार : पूर्व मध्य रेलवे परियोजना से विस्थापित टेसलाल वर्मा नगर निवासियों को पुर्नवासित नहीं किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 18 जून 2018

बिहार : पूर्व मध्य रेलवे परियोजना से विस्थापित टेसलाल वर्मा नगर निवासियों को पुर्नवासित नहीं किया

people-under-bridge-patna
पटना (आर्यावर्त डेस्क) 18 जून,  सर्वविदित है कि सी.एम. नीतीश कुमार के कार्यकाल में राजधानी की सूरत बदल गयी है. मजे की बात है राजधानी की सूरत बदलने के क्रम में वंचित समुदाय को पूर्णत: उपेक्षित छोड़ दी जारी है.सरकारी योजनाओं से लाभान्वित नहीं किया जा रहा है.अपने हाल पर घुटघुट कर वंचित समुदाय जीने को बाध्य कर दिया जा रहा है. यहां के लोगों का कहना है कि हमलोग पूर्व मध्य रेलवे परियोजना से विस्थापित हैं. सरकार नहीं चाहती है कि बुलडोजर चलाकर वंचित समुदाय को हटाकर विस्थापित करने का पापकर वंचित समुदाय को पुनर्वास करने का बोझ कंधे पर ले लें.रूपसपुर थाना क्षेत्र के टेसलाल नगर,शबरी नगर,जलालपुर आदि जगहों पर रहने वालों को नहीं पुनर्वासित किया. एम्स से दीघा तक नहर पर बन रहे एलिवेटेड रोड. इस सड़क के नीचे रहने वालों को मजबूर कर दिया कि लोग खुद ही हट जाय.यहां लगभग 100 फीट चौड़ी नहर है, जो सासाराम से पटना तक बहती है। दोनों ओर 12 किलोमीटर तक बसी राजधानी. पुल के ऊपर पुल और निचले हिस्से में फोर लेन सड़क.  

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...