नीतिगत दरों में वृद्धि के डर से सेंसेक्स 215 अंक नीचे - Live Aaryaavart

Breaking

मंगलवार, 5 जून 2018

नीतिगत दरों में वृद्धि के डर से सेंसेक्स 215 अंक नीचे

sensex-fall-215-points
मुंबई , चार जून, भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति की बैठक में नीतिगत दरों में वृद्धि किए जाने की आशंकाओं के बीच शेयरबाजारों में निवेशकों ने चुनिंदा शेयरों में बिकवाली बढ़ा दी थी जिससे बंबई शेयर बाजार का प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 215 अंक टूट गया। ब्याज दर की दृष्टि से संवेदनशील रीयल्टी कंपनियों के शेयर 3.25 प्रतिशत तक गिर गए। बैंक , वित्त , टिकाऊ उपभोग की वस्तुओं एवं पूंजीगत वस्तु क्षेत्र की कंपनियों के शेयरों में 1.83 प्रतिशत तक की गिरावट रही। मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक यहां आज शुरू हुई और तीन दिन चलेगी। एक धारणा यह भी है कि मुद्रास्फीति में वृद्धि को देखते हुए समिति 6 जून को नीतिगत ब्याज दरों में वृद्धि की घोषणा कर सकती है। मजबूत वैश्विक रुख के बीच 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स बढ़त के साथ खुला और एक समय 35,555.59 अंक तक चढ़ गया था। हालांकि , भारी बिकवाली के चलते जल्द ही नीचे आ गया। सेंसेक्स अंत में 215.37 अंक यानी 0.61 प्रतिशत लुढ़ककर 35,011.89 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 67.70 अंक यानी 0.6 प्रतिशत गिरकर 10,628.50 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह ऊंचे में 10,770.30 अंक तक गया। कारोबार के दौरान यह नीचे में 10,618.35 अंक तक गया।  अस्थायी आंकड़ों के मुताबिक , शुक्रवार को शेयर बाजारों में घरेलू संस्थागत निवेशक 337.97 करोड़ रुपये के शुद्ध लिवाल रहे जबकि विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 202.80 करोड़ रुपये की शुद्ध बिकवाली की। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के अनुंसधान प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि वैश्विक बाजार में सकारात्मक रुख के बावजूद स्थानीय शेयर बाजार ने शुरुआती बढ़त गवां दी क्योंकि निवेशकों को लग रहा है कि आरबीआई दरों में वृद्धि कर सकता है। " 

कारोबारी सत्र खत्म होने के बाद निवेशक वृहद आर्थिक आंकड़ों , तेल की कीमतों तथा रुपये के उतार - चढ़ाव पर नजर बनाए हुए हैं ... वहीं , दूसरी ओर अच्छे मानसून और 2017-18 की चौथी तिमाही में आर्थिक गतिविधियों में वृद्धि से उपभोग को बढ़ावा मिलेगा और ग्रामीण अर्थव्यवस्था में तेजी आएगी। सेंसेक्स की कंपनियों में एचडीएफसी बैंक के शेयर सबसे अधिक 2.99 प्रतिशत टूटा। इसके बाद अदाणी पोर्ट्स के शेयर 2.87 प्रतिशत टूटे। अन्य कंपनियों में भारती एयरटेल 2.77 प्रतिशत , पावर ग्रिड 2.06 प्रतिशत , हिंदुस्तान यूनिलीवर 1.73 प्रतिशत , ओएनजीसी 1.71 प्रतिशत , एनटीपीसी 1.43 प्रतिशत , एसबीआई 1.37 प्रतिशत , एशियन पेंट्स 1.20 प्रतिशत , आईसीआईसीआई बैंक 1.14 प्रतिशत और कोटक बैंक 1.13 प्रतिशत नीचे आया। वहीं , डॉक्टर रेड्डीज के शेयर 2.86 प्रतिशत चढ़े। इसके अलावा इंफोसिस, महिंद्रा एंड महिंद्रा, टाटा स्टील, आरआईएल, टीसीएस और यस बैंक के शेयरों में तेजी रही। बंबई शेयर बाजार के अलग - अलग क्षेत्रीय सूचकांकों में रीयल्टी क्षेत्र सूचकांक 3.25 प्रतिशत , बिजली 2.32 प्रतिशत , दूरसंचार 1.95 प्रतिशत , टिकाऊ उपभोक्ता वस्तुए 1.83 प्रतिशत , उपयोगिता वस्तु 1.66 प्रतिशत , वित्तीय क्षेत्र 1.50 , बुनियादी ढांचा 1.35 प्रतिशत , पूंजीगत वस्तु 1.26 प्रतिशत , सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम 1.17 प्रतिशत , एफएमसीजी 1.14 प्रतिशत स्वास्थ्यसेवा 0.46 प्रतिशत और वाहन क्षेत्र का सूचकांक 0.37 प्रतिशत गिरा। सूचना प्रौद्योगिकी और धातु क्षेत्र का सूचकांक में 0.42 प्रतिशत की वृद्धि हुई। बीएसई स्मालकैप 2.09 प्रतिशत टूटा जबकि मिडकैप 0.82 प्रतिशत नीचे रहा। वैश्विक स्तर पर अन्य एशियाई बाजारों ने बेहतर प्रदर्शन किया। जापान का निक्केई सूचकांक 1.37 प्रतिशत, हांग कांग का हेंग सेंग सूचकांक 1.66 प्रतिशत और शंघाई कंपोजिट सूचकांक 0.52 प्रतिशत ऊपर रहा।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...