देशभर के 48 चित्रकारों, कलाकारों का होगा जुटान - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 11 अगस्त 2018

देशभर के 48 चित्रकारों, कलाकारों का होगा जुटान

48-artist-come-togather-in-delhi
नई दिल्ली, 10 अगस्त, चित्रकला, फोटोग्राफी, डिजिटल आर्ट, ड्रॉइंग, प्रिंट-मेकिंग, सिरामिक्स और स्कल्पचर, इन सभी विधाओं में सिद्धहस्त देशभर के 48 कलाकार 10 अगस्त से 16 अगस्त तक लगने वाली प्रदर्शनी 'ये है दिल्ली मेरी जान' में जुटने वाले हैं। कूची, कैनवस और रंग के साथ किए जाने वाले प्रयोगों और क्राफ्ट के अगर आप मुरीद हैं या फिर इसकी समझ रखते हैं, तो आपके लिए प्रदर्शनी बेहतरीन मौका है, क्योंकि एक साथ इतने कलाकारों की कृतियों को देखने का मौका बिरले ही नसीब होता है। 'ये है दिल्ली मेरी जान' प्रदर्शनी का उद्घाटन 10 अगस्त की शाम होगा। रफी मार्ग स्थित ऑल इंडिया फाइन आर्ट्स एंड क्राफ्ट सोसाइटी में लगने वाली इस प्रदर्शनी का समय सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक रहेगा। यानी आप अगले 7 दिनों तक देश के युवा चित्रकारों, स्कल्पचर आर्टिस्ट, फोटोग्राफर, सिरामिक कलाकारों की कृतियों को देख सकते हैं। प्रदर्शनी में देश के अलग-अलग राज्यों के 48 कला-सेवक अपनी कलाकृतियां लेकर पहुंचे हैं। इनमें आनंद कर्माकर, रमाशंकर मिश्र, अंजली कुमार, डॉ. अपर्णा लाड, भोला कुमार, दीपा सिंह, मो. मजीद मंसूर, हरलीन संधू, ज्योति सतीजा, मेरी डेजी जैकब, मृगांको मौली मुखर्जी, प्रीति अग्रवाल, प्रियेश दत्त मालवीय, रेखा कुमारी, संजय सरकार, शैली लाल, शंकर तायडे, शंकरी कुंडू, सौमेन बसुए वत्स्ला खेरा, विशाल गोस्वामी, अंजना पेठिया, डॉ. अर्चना सिंह, नैमिष सागठिया, पूनम नाग चतुर्वेदी आदि शामिल हैं।
एक टिप्पणी भेजें