प्रबंधन की डिग्री नहीं होने के बावजूद अच्छी प्रबंधक होती हैं महिलाएं : सुमित्रा महाजन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 अगस्त 2018

प्रबंधन की डिग्री नहीं होने के बावजूद अच्छी प्रबंधक होती हैं महिलाएं : सुमित्रा महाजन

without-education-women-expert-in-management-sumitra-mahajan
चण्डीगढ़, 12 अगस्त, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने आज कहा कि प्रबंधन की डिग्री नहीं होने के बावजूद महिलाएं ‘‘अच्छी प्रबंधक’’ होती हैं और उनके अंदर घर और बाहर दोनों जगहों पर अच्छा प्रदर्शन करने की ताकत होती है। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि देश के विकास के लिए जरूरी है कि महिलाएं अपनी ताकत पहचानें। उन्होंने यहां भारत विकास परिषद की ओर से आयोजित महिला कार्यकर्ता सम्मेलन में कहा, ‘‘जब एक महिला काम करने के लिए घर से बाहर निकलती है तो उसे दोगुना काम करना पड़ता है। पुरुष कहते हैं कि वे भी उतना ही कर रहे हैं, लेकिन मेरा मानना है कि कोई आदमी यह गर्व से नहीं कहेगा कि वह घर में भी काम करता है।’’  महाजन ने कहा, ‘‘मैं कहती हूं कि आप (महिलाएं) प्रबंधन की किसी परीक्षा में बैठे बिना ही बहुत अच्छी प्रबंधक होती हैं क्योंकि महिलाएं स्वयं कहती हैं कि वे कुछ भी नहीं करतीं। गृहिणी होने का मतलब है कि मैं कुछ नहीं हूं। आप सबसे पहले इस सोच को अपने दिमाग से निकाल दीजिये क्योंकि आप काफी काम करती हैं।’’  उन्होंने विवाह के बाद अपने नये परिवार की देखभाल करने के लिए महिलाओं की प्रशंसा की।  उन्होंने कहा, ‘‘आप अपना परिवार छोड़कर एक नये परिवार में शामिल होती हैं और न केवल उससे घुल मिल जाती हैं बल्कि उसके प्रत्येक सदस्य को अपना मानती हैं। आप उनकी संस्कृति भी अपना लेती हैं...आप जिस तरह से पूरे परिवार को अपनाती हैं, ऐसा लगता है कि वह आप कई वर्षों से कर रही हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह से एक महिला एक नये परिवार में सामंजस्य बनाती है , उसमें एक प्रबंधन कौशल की जरूरत होती है।
एक टिप्पणी भेजें