सेंसेक्स में लगातार चौथे कारोबारी सत्र में गिरावट, 333 अंक टूटा - Live Aaryaavart

Breaking

सोमवार, 3 सितंबर 2018

सेंसेक्स में लगातार चौथे कारोबारी सत्र में गिरावट, 333 अंक टूटा

sensex-fall-333-points
मुंबई, तीन सितंबर, बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स सोमवार को अपनी शुरुआती बढ़त को गंवा कर उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में 333 अंक टूट गया। यह लगातार चौथा कारोबारी सत्र रहा जबकि सेंसेक्स में गिरावट आई। एफएमसीजी, रीयल्टी, बिजली और बैंक शेयरों में बिकवाली तथा रुपये के एक और रिकॉर्ड निचले स्तर पर आने से बाजार की धारणा प्रभावित हुई। इसके अलावा कमजोर वैश्विक संकेतों से भी बाजार प्रभावित हुआ। सोमवार को कारोबार के दौरान रुपया अपने सर्वकालिक निचले स्तर 71.10 प्रति डॉलर पर आ गया। इससे वृहद आर्थिक मोर्चे पर चिंता बढ़ी है। इसके अलावा अगस्त में लगातार दूसरे महीने देश के विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधियां सुस्त पड़ी हैं।  हिंदुस्तान यूनिलीवर, पावरग्रिड, आईटीसी, महिंद्रा एंड महिंद्रा, मारुति सुजुकी, ओएनजीसी, टीसीएस, एशियन पेंट्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज, हीरो मोटोकॉर्प, टाटा स्टील, इन्फोसिस, एलएंडटी और टाटा मोटर्स के शेयरों में 4.58 प्रतिशत तक की गिरावट आई। बैंकों...एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक बैंक, यस बैंक और भारतीय स्टेट बैंक के शेयर 2.69 प्रतिशत टूटे। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 289 अंक की छलांग के साथ 38,934.35 अंक के उच्चस्तर पर पहुंच गया था। लेकिन कारोबार के दूसरे पहर में चले बिकवाली के सिलसिले से सेंसेक्स नीचे आया। एक समय यह 38,270.01 अंक के निचले स्तर तक आ गया। अगस्त महीने में विनिर्माण पीएमआई में सुस्ती की वजह से बाजार नीचे आया। अंत में सेंसेक्स 332.55 अंक या 0.86 प्रतिशत के नुकसान से 38,312.52 अंक पर बंद हुआ। इससे पिछले तीन सत्रों में सेंसेक्स 251.56 अंक टूटा था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 98.15 अंक या 0.84 प्रतिशत के नुकसान से 11,582.35 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 11,567.40 से 11,751.80 अंक के दायरे में रहा। दो अगस्त से सेंसेक्स और निफ्टी में यह सबसे बड़ी गिरावट है। उस दिन सेंसेक्स 356.46 अंक और निफ्टी 101.50 अंक टूटा था। इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने शुक्रवार को 212.81 करोड़ रुपये के शेयर बेचे, वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 171.92 करोड़ रुपये की लिवाली की। 
एक टिप्पणी भेजें