बेगूसराय : राजनीति के नायक डॉ• भोला सिंह पंचतत्त्व में विलीन। - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 21 अक्तूबर 2018

बेगूसराय : राजनीति के नायक डॉ• भोला सिंह पंचतत्त्व में विलीन।

bhola-singh-mp-cremeted
बेगूसराय (अरुण शाण्डिल्य) बिहार के राजनीति के महनायक जिसने पांच दसक तक राज्य के राजनीतिक आसमान पर कभी सूर्य की तरह,आलोचना रूपी ताप तो कभी पूर्णमासी के चंद्रमा की तरह  सेवा रूपी  शीतलता से ओतप्रोत रखा।जिस तरह गंगा की अविरल धारा सदैब अपनी भव्यता एवं पवित्रता अक्षुण रखती है चाहे उसकी धारा कहीं से गुजरे,चाहे कितने पापों का हनन करे ठीक उसी तरह चाहे जिस राजनीतिक दल में रहे कभी भी उन्होने मर्यादा एवं विचाधारा से समझौता नही किया।जिस की भी पार्टी में रहे अपनी गरिमा और मर्यादा को बनाये रख्खा सदा।इनकी राजनीति का उदय कॉम्युनिष्ट पार्टी से हुआ।उस वक्त कॉमरेड सूर्यनारायण सिंह (सूरज दा) और कॉमरेड चंद्रशेखर सिंह (चानो दा)जिनके याद में एन एच 31 पपरौर में अस्पताल चाँद सूरज आज भीसमाज को बेहतर सेवा देने के लिये कटिबद्ध है। कॉमरेड केदार राय,सीताराम महाराज,सियाराम यादव,कॉमरेड सुखदेव सिंह आदि इनके साथी कार्यकर्ता थे।इसके बाद इन्होंने कॉंग्रेसि पार्टी में काफी दिन अपना योगदान देते रहे।अंत मे इन्होंने भारतीय जनता पार्टी के लिये समर्पित हो गए और यहाँ आने के बाद इसी पार्रि ने इनको समझा और इनको बेगूसराय संसदीय क्षेत्र के सांसद के रूप में कार्य करते हुए आज बेगूसराय का नाम फ़लक पर पहुँचाया।बेगूसराय की जनता इन्हें इनके कृतियों के साथ सदा याद रखेगी।आज ये  महान विभूति खुद को प्रवाह कहनेवाले पंचतत्व में विलीन हो गंगा के अविरल धारा में सदा सदा के लिये प्रवाहित हो गए। ऐसे महान आत्मा को बेगूसराय की जनता कोटि कोटि नमन करती है। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...