बंगाल रेलवे ओवर ब्रिज भगदड़ मामले में प्राथमिकी दर्ज - Live Aaryaavart

Breaking

बुधवार, 24 अक्तूबर 2018

बंगाल रेलवे ओवर ब्रिज भगदड़ मामले में प्राथमिकी दर्ज


fir-lodged-against-bengal-over-bridge-stampede
कोलकाता 24 अक्टूबर, हावड़ा के संतरागाछी स्टेशन स्थित रेलवे ओवर ब्रिज पर भगदड़ मामले में बुधवार को अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी (एफआईआर) दर्ज की गई। राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) अधिकारी ने यह जानकारी दी। भगदड़ में दो लोगों की मौत हो गई थी और बारह लोग घायल हो गए थे। यह घटना मंगलवार को शाम छह बजे के आस-पास हुई, जब दक्षिण पूर्वी रेलवे के अधीन इस व्यस्त रेलवे जंक्शन स्थित ओवर ब्रिज पर अत्यधिक भीड़ जमा हो गई। वहां दो आस-पास के ट्रैक पर एकसाथ दो ट्रेनों के आने की घोषणा की गई, जिसके बाद यात्री ओवजब्रिज के जरिए जल्दबाजी से अपने गंतव्य तक पहुंचने की कोशिश करने लगे, जिसके फलस्वरूप यह घटना हुई। संतरागाछी जीआरपी के एक अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, "मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ लापरवाही की वजह से मौत और गंभीर चोट पहुंचाने के आरोप में आईपीसी की कई धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है।"


रेलवे अधिकारियों ने एक विज्ञप्ति में दो लोगों की मौत की पुष्टि की है और कहा कि इस मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं। विज्ञप्ति के अनुसार, "संतरागाछी रेलवे स्टेशन में मंगलवार को अत्यधिक भीड़ की चपेट में आने से पूर्वी मिदनापुर के काला कांति सिंह (32) व मुर्शिदाबाद के तासेर सरदार (61) की मौत हो गई।" विज्ञप्ति के अनुसार, "रेलवे प्रशासन ने इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना की जांच के आदेश दिए हैं।" विभाग ने मरने वालों के परिजनों के लिए पांच-पांच लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों के लिए एक लाख और हल्की चोट लगने वालों के लिए 50,000 रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार शाम को अस्पताल में घायलों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि रेलवे की 'लापरवाही' से यह घटना हुई है। इसके साथ ही उन्होंने राज्य सरकार की तरफ से जांच के आदेश दिए।उन्होंने कहा, "लोगों की सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया जा सकता और रेलवे को लोगों का समुचित ख्याल रखना चाहिए। रेलवे देश की जीवनरेखा है, इसे बेपटरी नहीं होना चाहिए।"

एक टिप्पणी भेजें
Loading...