राहुल ने मोदी और रमन पर साधा जमकर निशाना - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 11 नवंबर 2018

राहुल ने मोदी और रमन पर साधा जमकर निशाना

rahul-targets-modi-and-raman
जगदलपुर, 10 नवंबर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ की जनता को अनेकों सौगात देने की घोषणा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह पर जमकर निशाना साथा, इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार पर नक्सलवाद से लेकर राफेल डील तक भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया। श्री गांधी ने यहां के लाल बाग मैदान में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए यह आरोप लगाए। उन्होंने नक्सलवाद के मुद्दे बोलते हुए कहा कि कांग्रेस ने अपने नेताओं को खोया है। श्री गांधी ने भाषण की शुरुआत श्री मोदी पर निशाना साध कर किया। उन्होंने श्री मोदी पर नक्सलवाद से लेकर राफेल डील में भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी की यहां सरकार आने वाली है। वे झूठा वादा करने यहां नहीं आए हैं। उन्होंने छत्तीसगढ़ के किसानों से कहा कि आप सबेरे चार बजे उठते हो, मेहनत करते हो। उनकी सरकार बनने पर दस दिन के भीतर आप का सारा कर्जा माफ कर दिया जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री डाॅ रमन सिंह ने किसानों का बोनस छीना कांग्रेस आप को बोनस देगी। दो साल के लिए उन लोगों ने बोनस नहीं दिया, कांग्रेस उन दो सालों का बोनस भी देगी। कांग्रेस पार्टी फूड प्रोसेसिंग यूनिट खोलेगी, हर ब्लाक जिले में जाकर अपनी सब्जियां फल फूड प्रोसेसिंग यूनिट में देगा। वहां किसानों के बेटे को भी रोजगार मिलेगा। श्री गांधी ने कहा कि हम पंजाब की तरह छत्तीसगढ़ को कृषि का सेक्टर बनाना चाहते हैं। वहां छत्तीसगढ़ के युवाओं को रोजगार देंगे। राहुल ने आदिवासियों और किसानों की जमीन अधिग्रहण पर मोदी और राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि कानून के तहत आदिवासियों को उनकी जमीन का हक देना चाहिए। किसान को बगैर पूछे जमीन नहीं ली जाएगी। अगर किसान जमीन देने का मूड़ बनाया तो बाजार से चार गुना दर पर पैसा देना होगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आएगी तब हम कानून लाएंगे। अगर किसान की जमीन ली गई और अगर पांच साल तक उद्योग लगा नहीं तो जमीन किसान को वापस की जाएगी। यहां टाटा स्टील प्लांट के लिए सरकार ने आदिवासियों से उनकी जमीनें छीनकर टाटा को जमीन दी, लेकिन सालों बीत गए, यहां टाटा ने कुछ भी नहीं किया। कांग्रेस की सरकार बनते ही टाटा स्टील प्लांट के लिए जो चार हजार एकड़ जमीन सरकार ने ली उसे सरकार बनते तत्काल वापस किया जाएगा।  इससे पहले श्री गांधी की सभा में बडी संख्या में लोग सभा स्थल पहुंचे। यह सभा वहीं आयोजित की गयी थी, जहां कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभा ली थी।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...