दिल्ली में मौसम की प्रतिकूल स्थिति, वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में बरकरार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 6 दिसंबर 2018

दिल्ली में मौसम की प्रतिकूल स्थिति, वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में बरकरार

delhi-air-worst-pollution
नयी दिल्ली, छह दिसंबर, धीमी वायु गति जैसी प्रतिकूल मौसम स्थितियों के कारण दिल्ली में बृहस्पतिवार को वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में कायम रही जबकि चार क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज की गई। केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 343 दर्ज किया। एक्यूआई सूचकांक 201 से 300 के बीच में ‘खराब’, 301 से 400 तक ‘बहुत खराब’ और 500 से ऊपर ‘गंभीर’ श्रेणी में आता है। बोर्ड के अनुसार, चार इलाकों मुंडका, नेहरू नगर, रोहिणी और वजीरपुर में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज की गई। वायु गुणवत्ता 24 क्षेत्रों में ‘बहुत खराब’ और चार क्षेत्रों में ‘खराब’ रही। बोर्ड ने कहा कि पीएम 2.5 का औसत स्तर 210 और पीएम 10 का स्तर 386 रहा। बोर्ड के डेटा के अनुसार, एनसीआर में, गाजियाबाद, फरीदाबाद और नोएडा में वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में रही।  केन्द्र द्वारा संचालित ‘वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान प्रणाली’ (सफर) ने कहा कि दिल्ली में औसत वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में बरकरार रही। संस्था ने कहा, ‘‘सामान्य सतह वायु गति एकमात्र मौसम संबंधी कारक है जो प्रदूषण को असरदार तरीके से संग्रहित नहीं होने दे रही है और कुछ हद तक सकारात्मक रूप से काम कर रही है। मौसम संबंधी अन्य स्थितियां वायु गुणवत्ता के लिए प्रतिकूल हैं।’’  प्रदूषण नियंण बोर्ड के एक कार्यबल ने दिल्ली एनसीआर में ज्यादा प्रदूषण वाले 21 स्थलों की पहचान की है और संबंधित निकाय संस्थाओं को ‘‘केन्द्रित कार्रवाई’’ करने का निर्देश दिया।
एक टिप्पणी भेजें