मतगणना में निष्पक्ष रहें अफसर, 11 के बाद 12 दिसंबर भी आएगी : कमलनाथ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 6 दिसंबर 2018

मतगणना में निष्पक्ष रहें अफसर, 11 के बाद 12 दिसंबर भी आएगी : कमलनाथ

kama-nath-said-officers-be-honest-with-voting
भोपाल, 6 दिसंबर, कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रशासनिक मशीनरी पर मतगणना में निष्पक्षता का भरोसा जताते हुए कहा कि उन्हें (अफसरों) पता है कि 11 के बाद 12 दिसंबर भी आने वाली है। कांग्रेस के उम्मीदवारों को मतगणना में सजगता और सतर्कता बरतने का संदेश देने के लिए गुरुवार को बुलाई गई बैठक में कमलनाथ ने कहा कि मतगणना के दिन उम्मीदवारों और उनके एजेंटों केा बड़ी गंभीरता से सावधान रहना है और आशंका होने पर सशक्त विरोध दर्ज करना है। समाधान होने पर ही मतगणना को जारी रखने देना है। प्रदेश कांग्रेस प्रमुख ने आगे कहा कि उन्हें आशा है कि प्रशासन पूरी निष्पक्षता के साथ प्रत्याशियों की आपत्तियों का समाधान करेगा, क्योंकि उन्हें पता है कि 11 के बाद 12 दिसंबर भी आने वाली है। कमलनाथ ने उम्मीदवारों से कहा कि वे मतगणना की पूरी प्रक्रिया और अपने अधिकारों को जान लें, चुनाव आयोग से हर राउंड के बाद परिणाम शीट देने और उस पर आऱ ओ़ और प्रत्याशी के हस्ताक्षर करके देने की मांग की है। उम्मीदवार पहले राउंड की शीट मिलने के बाद ही दूसरा राउंड शुरू होने दें।

उन्होंने कहा कि इस चुनाव में कांग्रेस ने एकजुटता दिखाई है, एकता की यह ताकत 11 दिसंबर को मध्यप्रदेश में एक नया इतिहास लिखेगी। पिछले 15 सालों से भाजपा और उनके चंद समर्थक अधिकारी प्रदेश पर कब्जा जमाए हुए थे। अब प्रदेश में सभी वर्गो को साथ लेकर एक नई व्यवस्था का निर्माण होगा। पूरी की पूरी व्यवस्था बदलने की जरूरत है। प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस के सर्वोच्च नेतृत्व कमलनाथ ने एक बेहतरीन टीम वर्क के साथ विधानसभा चुनाव में मेहनत की है। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार जरूर बनेगी और अगले लोकसभा चुनाव में इसका अच्छा खासा असर देखने को मिलेगा। नेता प्रतिपक्ष अजय सिह ने सभी उम्मीदवारों को मतगणना दिवस के अलावा हेराफेरी की आशंका को देखते हुए 9 और 10 दिसंबर को विशेष रूप से सतर्क रहने की हिदायत दी। इस अवसर पर अभा कांग्रेस विधि विभाग के अध्यक्ष विवेक तन्खा ने नियमों और कानूनों की बारीकियां समझाई। उन्होंने कहा कि अधिवक्ताओं की एक बड़ी टीम पूरे इलेक्शन की मॉनिटरिग कर रही है। पूरी चुनाव प्रक्रिया संविधान और पीपुल्स रिप्रजेंटेटिव एक्ट में निहित है। प्रवक्ता ज़े पी़ धनोपिया, शशांक शेखर और अजय गुप्ता आदि ने मतगणना की बारीकियां समझाई। इस अवसर पर सुरेश पचौरी, संजय कपूर, सुधांशु त्रिपाठी, राजेंद्र सिह, शोभा ओझा, नरेंद्र सलूजा, प्रकाश जैन, राजीव सिह, चंद्रप्रभाष शेखर, गोविद गोयल, वरुण चोपड़ा, भूपेंद्र गुप्ता, अभय दुबे व अन्य उपस्थित थे।
एक टिप्पणी भेजें