सेंसेक्स ने लगायी 361 अंक की छलांग; कोटक बैंक के शेयर 9% चढ़े - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 7 दिसंबर 2018

सेंसेक्स ने लगायी 361 अंक की छलांग; कोटक बैंक के शेयर 9% चढ़े

sensex-up-361-points
मुंबई, सात दिसंबर, वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख, कच्चे तेल के दाम में कमी और कोटेक बैंक के शेयरों में उछाल के चलते स्थानीय शेयर बाजारों में तीन दिन से जारी गिरावट का सिलसिला शुक्रवार को थम गया और प्रमुख सूचकांक बढ़त के साथ बंद हुए। बीएसई का सेंसेक्स शुक्रवार को 361.12 अंक यानी 1.02 प्रतिशत चढ़कर 35,673.25 अंक पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी में भी 92.55 अंक यानी 0.87 प्रतिशत की तेजी देखी गयी और वह 10,693.70 अंक पर बंद हुआ। हालांकि दोनों सूचकांक पिछले सप्ताह के मुकाबले इस हफ्ते गिरावट के साथ बंद हुए। इस सप्ताह सेंसेक्स में 521.05 अंक यानी 1.43 प्रतिशत और निफ्टी 183.05 अक यानी 1.68 प्रतिशत टूटकर बंद हुए।  दोनों शेयर बाजारों में कोटक महिंद्रा बैंक के शेयरों में सबसे अधिक तेजी दर्ज की गयी और वह करीब नौ प्रतिशत की बढ़त के साथ बंद हुआ। वारेन बफे की अगुवाई वाली बर्कशायर हाथवे इंक की निजी बैंक में निवेश की योजना से जुड़ी खबरों के बीच बैंक के शेयरों में यह उछाल देखने को मिली। मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक बर्कशायर हाथवे प्रवर्तक की हिस्सेदारी खरीदकर या वरीयता के आधार पर आवंटन के जरिए चार अरब डॉलर से छह अरब डॉलर का निवेश कर सकती है। अडाणी पोर्ट्स, बजाज ऑटो, इंफोसिस, एशियन पेंट्स, मारूति, एचयूएल, एलएंडटी, एमएंडएम, आईसीआईसीआई बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर भी तीन प्रतिशत तक चढ़े। सन फॉर्मा, कोल इंडिया, यस बैंक, पावर ग्रिड और एनटीपीसी के शेयर दो प्रतिशत तक लुढ़क गए। 

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने बताया, “इस सप्ताह भारतीय इक्विटी बाजार में सतर्कता का रुख रहा। आम चुनावों से पहले राज्यों के चुनाव परिणाम को लेकर बाजार में बिकवाली का रुख देखा गया।”  उन्होंने कहा, “अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध के समाप्त होने की उम्मीद से वैश्विक बाजार में सकारात्मक रुख के चलते आज घरेलू बाजार में उछाल देखने को मिला। तेल के उत्पादन में कटौती पर अंतिम निर्णय को विलंबित करने के ओपेक के फैसले के कारण तेल के दाम गिरने से भारत में धारणा मजबूत हुई।”  एशियाई और यूरोपीय बाजारों में सकारात्मक रुख का असर भी भारतीय शेयर बाजारों में देखने को मिला। दिन के कारोबार में अमेरिका डॉलर के मुकाबले रुपया 24 पैसे के सुधार के साथ 70.66 रुपये पर रहा।  ओपेक और गैर-ओपेक देशों में तेलों के उत्पादन में कटौती के बीच सहमति नहीं बन पाने से कच्चे तेल की कीमत 0.72 प्रतिशत की नरमी के साथ 59.63 डॉलर प्रति बैरल पर रहा। बीएसई में उपलब्ध अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने बृहस्पतिवार को 72.47 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 389.78 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे। वैश्विक बाजारों में एशिया में कोरिया का कोस्पी शेयर सूचकांक 0.34 प्रतिशत, जापान का निक्केई 0.82 प्रतिशत, हांगकांग का हैंग सेंग 0.35 प्रतिशत तथा शंघाई कंपोजिट सूचकांक 0.02 प्रतिशत तक चढ़े। यूरोप में शुरूआती कारोबार में फ्रैंकफर्ट का डीएएक्स 0.85 प्रतिशत और पेरिस सीएसी 40 सूचकांक 1.40 प्रतिशत तक ऊंचे चल रहे थे। । लंदन का एफटीएसई भी 1.53 प्रतिशत तक चढ़ गया था।
एक टिप्पणी भेजें