दिसंबर में जीएसटी संग्रह में 2,911 करोड़ रुपये की गिरावट - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 1 जनवरी 2019

दिसंबर में जीएसटी संग्रह में 2,911 करोड़ रुपये की गिरावट

2911-crore-fall-in-gst-collection-in-december
नयी दिल्ली 01 जनवरी, वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह में दिसंबर 2018 में 2911 करोड़ रुपये घटकर 94,726 करोड़ रुपये रह गया। नवंबर 2018 में जीएसटी संग्रह 97,637 करोड़ रुपये रहा था।  वित्त मंत्रालय की तरफ से मंगलवार को मिली जानकारी के अनुसार, 30 दिसंबर तक 72 लाख 44 हजार जीएसटीआर-3बी रिटर्न भरे गये। अगस्त-सितंबर के लिए राज्यों को क्षतिपूर्ति के रूप में 11,922 करोड़ रुपये की राशि दी गई। दिसंबर 2018 में कुल 94,726 करोड़ रुपये के जीएसटी संग्रह में केंद्रीय जीएसटी (सीजीएसटी) की राशि 16,442 करोड़ रुपये रही। राज्य जीएसटी (एसजीएसटी) की राशि 22,459 करोड़ रुपये और एकीकृत जीएसटी (आईजीएसटी) की 47,936 करोड़ रुपये थी। उपकर के रूप में 7,888 करोड़ रुपये का राजस्व मिला।  सरकार ने आईजीएसटी से निपटान में 18,409 करोड़ रुपये सीजीएसटी के लिए और 14,793 करोड़ रुपये एसजीएसटी की मद में दिये हैं। नियमित निपटान के बाद केंद्र और राज्य सरकारों की कुल राजस्व प्राप्ति दिसंबर में सीजीएसटी में 43,851 करोड़ रुपये और सीजीएसटी में 46,252 करोड़ रुपये थी। चालू वित्त वर्ष के प्रथम नौ माह के दौरान सिर्फ अप्रैल और अक्टूबर में ही जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा। अप्रैल में यह 1.03 लाख रुपये और अक्टूबर में एक लाख 710 करोड़ रुपये रहा। मई और जून में जीएसटी संग्रह क्रमश: 94,016 करोड़ और 95,610 करोड रुपये प्राप्त हुये। जुलाई में 96,483 करोड़ रुपये तो अगस्त में सबसे कम 93,960 करोड़ रुपये जीएसटी से प्राप्त हुये। सितंबर में यह राशि 94,442 करोड़ रुपये और नवंबर में 97,637 करोड़ रुपये रही।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...