दरभंगा : कुलपति के निरीक्षण में न तो शिक्षक मिले न छात्र, लापरवाही बिल्कुल बर्दाश्त नहीं : कुलपति - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 2 जनवरी 2019

दरभंगा : कुलपति के निरीक्षण में न तो शिक्षक मिले न छात्र, लापरवाही बिल्कुल बर्दाश्त नहीं : कुलपति

प्रधानाचार्य सहित 8 शिक्षाकर्मी निलंबित
8-principle-suspended-sanskrit-university-darbhanga
दरभंगा (आर्यावर्त संवाददाता)  : कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सर्व नारायण झा ने आज धर्म समाज संस्कृत कॉलेज, मुजफ्फरपुर के प्रधानाचार्य डॉ. अश्वनी कुमार शर्मा समेत 8 कर्मियों को निलबिंत कर दिया है। निलंबित होने वालों में पांच शिक्षक व तीन शिक्षकेतर कर्मी शामिल हैं। कुलपति के औचक निरीक्षण में कॉलेज से ये सभी अनुपस्थित थे। प्रधानाचार्य कक्ष में ताला झूल रहा था और परिसर में एक भी छात्र मौजूद नहीं था। मात्र सह प्राचार्य डॉ. भगवन्नारायन मिश्र व आदेशपाल संजय कुमार यादव ही कॉलेज में उपस्थित थे। कुलपति प्रो. झा ने इस स्थिति को काफी गंभीरता से लेते हुए कर्तव्यहीनता के आरोप में सभी पर निलंबन की कार्रवाई की है। उक्त जानकारी देते हुए जनसम्पर्क पदाधिकारी निशिकांत प्रसाद सिंह ने बताया कि निलंबन अवधि में अभी आरोपी कर्मी अध्यापन कार्यों को तो करेंगे, लेकिन प्रशासनिक कार्यों से सभी को वंचित कर दिया गया है। साथ ही सह प्राचार्य डॉ. मिश्र को प्रधानाचार्य का प्रभार देने का आदेश भी कुलपति ने दे दिया है। विभागीय कारवाई के सम्पादन के लिए एक जांच कमिटी भी गठित करने का आदेश दिया गया है। बताया गया कि अवकाश के बाद नए साल के दूसरे दिन बुधवार को पूर्वाह्न 11 बजे जब कुलपति उक्त कॉलेज पहुंचे, तो प्रधानाचार्य डॉ. शर्मा समेत कुल 8 कर्मी अनुपस्थित मिले। अनुपस्थित कर्मियों में शिक्षक डॉ. अश्वनी शर्मा, डॉ. दिनेश ओझा, डॉ. राजेश्वर प्रसाद सिंह, डॉ. लोकेश कुमार झा, डॉ. कांतेश कुमार के अलावा शिक्षकेतर कर्मी वीरेंद्र कुमार पांडे, लोकेशनाथ मिश्र व संतोष कुमार राय शामिल हैं। बता दें कि मुख्यालय पहुंचते ही कुलपति प्रो. झा ने कुलसचिव नवीन कुमार को उक्त आशय का कार्यालय आदेश निर्गत करने को कहा। इसी क्रम में कुलपति ने कहा कि शैक्षणिक व प्रशासनिक कार्यो में लापरवाही व शिथिलता एकदम बर्दाश्त नहीं कि जाएगी। उन्होंने आगे भी इस तरह की कारवाई का संकेत दिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...