केंद्र सरकार श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए इसी सत्र में कानून बनाये :विहिप - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 4 जनवरी 2019

केंद्र सरकार श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए इसी सत्र में कानून बनाये :विहिप

demand-for-vhp-central-government-to-make-laws-in-this-session-for-the-construction-of-shriram-temple
नयी दिल्ली, 04 जनवरी, अयोध्या में विवादित भूमि मामले में अपील की सुनवाई उच्चतम न्यायालय की संबंधित पीठ के 10 जनवरी तक टाल दिए जाने के बाद विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने केंद्र सरकार से एक बार फिर मांग की है कि वह अपने इसी कार्यकाल में श्रीराम मंदिर निर्माण का कानून बनाये। उच्चतम न्यायालय में शुक्रवार को राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की पीठ ने सुनवाई करते हुए महज पांच सेकंड में यह कहा कि मामले की अगली सुनवाई दस जनवरी को होगी और यह सुनवाई तीन न्यायाधीशों की नयी खंडपीठ करेगी। विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि मामले में अपील की सुनवाई संबंधित पीठ ने 10 जनवरी के लिए टाल दी है। अच्छा होता कि संबंधित पीठ का गठन सुनवाई की पिछली तारीख 29 अक्टूबर से पहले ही कर दिया जाता। श्री कुमार ने कहा कि देखना यह है कि नयी पीठ विशेषकर रोजाना सुनवाई तथा अपीलों के शीघ्रातिशीघ्र निस्तारण के विषय में किये गये आग्रह के संबंध में क्या रुख अपनाती है। उन्होंने कहा कि हमारा स्पष्ट मानना है कि संसदीय कानून से ही इस मामले का शीघ्रातिशीघ्र निस्तारण हो सकेगा। विहिप केंद्र सरकार से मांग करती है कि वह अपने इसी कार्यकाल में यह कानून बनाये।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...