शाह ने राम मंदिर, भ्रष्टाचार और घुसपैठियों पर कांग्रेस को घेरा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 11 जनवरी 2019

शाह ने राम मंदिर, भ्रष्टाचार और घुसपैठियों पर कांग्रेस को घेरा

shah-trapped-congress-on-ram-temple-corruption-and-infiltrators
नयी दिल्ली, 11 जनवरी, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने राम मंदिर, भ्रष्टाचार और घुसपैठियों के मुद्दों पर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को घेरते हुये मंदिर और घुसपैठियों के मामले में उसका रुख स्पष्ट करने की चुनौती दी। श्री शाह ने यहां रामलीला मैदान में भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित करते हुये कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के कार्यकाल में 12 लाख करोड़ रुपये का भ्रष्टाचार हुआ। मोदी सरकार ने आने के साथ कालाधन पर लगाम कसने के लिए विशेष कार्यबल का गठन किया। नोटबंदी के दौरान तीन लाख फर्जी कंपनियों की पहचान कर उन्हें बंद किया गया। सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण से सरकारी सब्सिडी की चोरी रुकी। 

अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर खरीद मामले में गिरफ्तार क्रिस्टन मिशेल के गांधी परिवार से संबंध की ओर इशारा करते हुये भाजपा अध्यक्ष ने कहा, “आज​ मिशेल मामा पकड़े जाते हैं तो उनके पसीने-पसीने छूट जाते हैं। पता नहीं मिशेल मामा ने क्या-क्या बता दिया होगा। आपका इतिहास भ्रष्टाचार से भरा हुआ है और आप हम पर आरोप लगाते हैं।” उन्होंने बैंकों से करोड़ों रुपये का कर्ज लेकर भाग चुके कारोबारियों नीरव मोदी, विजय माल्या और मेहुल चोकसी पर कांग्रेस के लगातार जारी हमलों का जवाब देते हुये कहा कि कांग्रेस के समय वे आराम से देश में थे और मोदी सरकार के शासन में भागने पर मजबूर हुये हैं। उन्होंने कहा, “चौकीदार सत्ता में आया इसलिए ये देश छोड़कर भाग गये। कांग्रेस के समय आराम से थे कि कोई कुछ बिगड़ नहीं सकता। देश का जितना पैसा लेकर ये भागे हैं चौकीदार सब वसूल कर लायेगा।” राफेल मुद्दे पर कांग्रेस के आरोपों को निराधार बताते हुये श्री शाह ने कहा कि श्री गांधी के पास कोई दस्तावेज नहीं है और इसीलिए बार-बार मांग करने के बाद भी वह उच्चतम न्यायालय को कोई दस्तावेज नहीं दे सके। उच्चतम न्यायालय ने कह दिया कि जांच की कोई जरूरत नहीं है और राफेल सौदे में किसी को अनुचित लाभ नहीं दिया गया है।

उन्होंने कहा कि शीर्ष अदालत के फैसले के बाद भी कांग्रेस नहीं मानी और संसद में चर्चा की मांग करने लगी। उन्हें लगा कि सरकार डर जायेगी लेकिन गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने चर्चा की बात स्वीकार कर ली। श्री गांधी चौबे से छब्बे बनने संसद गये थे और दुब्बे बनकर संसद से निकले।  जब राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर(एनआरसी) से जुड़े नागरिकता संशोधन विधेयक पर संसद में चर्चा हो रही थी तो कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और वामपंथी दल लोकसभा से बाहर चले गये। जैसे घुसपैठिये उनके मौसेरे भाई हों। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से अपना पक्ष स्पष्ट करने की मांग की और कहा, “राहुल गांधी को यह स्पष्ट करना चाहिए कि क्या उनका गठबंधन इससे सहमत है कि इस देश में घुसपैठिये रहें। हमारे लिए यह वोट बैंक का नहीं, देश की सुरक्षा का मामला है।” उन्होंने कहा कि यह विधेयक देश के नागरिकों की पहचान से जुड़ा हुआ है, देश के नागरिकों के सम्मान से जुड़ा हुआ है। उन्होंने कार्यकर्ताओं को बताया कि असम में एनआरसी के जरिये 40 लाख बंगलादेशी घुसपैठियों की पहचान हुई है।  श्री शाह ने कांग्रेस पर उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण में रोड़े अटकाने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा, “भाजपा चाहती है राम जन्म भूमि स्थल पर जल्द से जल्द भव्य मंदिर का निर्माण हो। उच्चतम न्यायालय में मामला चल रहा है। हम प्रयास कर रहे हैं कि जल्द से जल्द फैसला हो, लेकिन कांग्रेस इसमें एक के बाद एक रोड़े अटका रही है।” उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं वकील कपिल सिब्बल ने उच्चतम न्यायालय में सुनवाई 2019 के आम चुनाव तक टालने की अपील की थी। उन्होंने कांग्रेस से इस मामले में अपना रुख स्पष्ट करने को कहा। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...