छत्तीसगढ़ : नौ नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 20 फ़रवरी 2019

छत्तीसगढ़ : नौ नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया

9-naxal-surrender-raipur
रायपुर, 20 फरवरी, छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में पांच इनामी नक्सलियों समेत नौ नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। बीजापुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने आज भाषा को दूरभाष पर बताया कि बीजापुर जिले में आज नौ नक्सलियों नागेश कुरसम :30 वर्ष:, सोमे :28 वर्ष:, सहदेव उईका :25 वर्ष:, गणपत वासम :20 वर्ष:, राममूर्ति वासम :27 वर्ष:, कमलू कामा :38 वर्ष:, कुहरामी हड़मो :30 वर्ष:, लक्खू वेट्टी :25 वर्ष: और 17 वर्षीय एक नक्सली ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि नक्सली नागेश कुरसम प्लाटून नंबर दो में स्वयंभू सेक्शन कमांडर था। उसके सिर पर तीन लाख रुपये का इनाम घोषित है। वहीं उसकी पत्नी सोमे उर्फ भीमें कुरसम प्लाटून नंबर 22 में स्वयंभू सेक्शन कमांडर थी। उसके सिर पर तीन लाख रुपये का इनामी घोषित है। उन्होंने बताया कि 17 वर्षीय नक्सली प्लाटून नम्बर 13 का सदस्य था। उसके सिर पर दो लाख रुपये का इनाम घोषित है। नक्सली सहदेव उईका कंपनी नंबर दो का सदस्य था। उसके सिर पर दो लाख रुपये का इनाम घोषित है। अधिकारियों ने बताया कि नक्सली गणपत वासम पोलमपल्ली क्षेत्र का स्वयंभू जनमिलिशिया कमाण्डर था। उसके सिर पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों के खिलाफ पुलिस दल पर हमला करने, हत्या, बम विस्फोट समेत अन्य घटनाओं में शामिल होने का आरोप है। आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने नक्सली जीवन शैली से त्रस्त होकर तथा नक्सलियों की खोखली विचारधारा से क्षुब्ध होकर नक्सलवाद छोड़ने का फैसला किया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि माओवादियों के आत्मसमर्पण करने पर उन्हें उत्साहवर्धन के लिए शासन द्वारा 10-10 हजार रुपये नकद प्रोत्साहन राशि प्रदान की गई। वहीं उन्हें शासन की पुनर्वास नीति के तहत अन्य सुविधा एवं लाभ दिया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...