बिहार : डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय को बखूबी पता है कि पुलिसकर्मियों की क्या ड्यूटी है - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 10 फ़रवरी 2019

बिहार : डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय को बखूबी पता है कि पुलिसकर्मियों की क्या ड्यूटी है

bihar-dgp-gupteshwar-pandey
अरुण कुमार (बिहार) बिहार के नए पुलिस कप्तान गुप्तेश्वर पाण्डेय के लिए लॉ एंड ऑर्डर को दुरुस्त करना सबसे बड़ी चुनौती है। डी०जी०पी० का पदभर  संभालने के बाद गुप्तेश्वर पाण्डेय ने खुद की चुस्ती-फुर्ती देखते हुए यह सरेआम पुलिस प्रशासन में एलान कर दिया है कि वह किसी भी मामले में ढीले-ढाले पुलिसकर्मियों को बर्दाश्त नहीं करेंगे। अगर पुलिसकर्मी ड्यूटी के मामले में लापरवाह पाए गए तो डी०जी०पी० जी०पाण्डेय उन्हें बख्शने वाले नहीं। बीती रात डी०जी०पी० गुप्तेश्वर पाण्डेय पूरी तरह से एक्शन में दिखे। उन्होंने पटना के दो थानों में पहुंचकर पुलिसिंग करते हुए पुलिसकर्मियों की जिम्मेदारियों और ड्यूटी की मुस्तैदियों का जायजा लिया। गुप्तेश्वर पाण्डेय देर रात तकरीबन 01:०० बजे राजधानी के एस०के० पुरी थाना का औचक निरीक्षण करते हुए गर्दनीबाग पहुँचे। डी०जी०पी० के अचानक थाने में पहुँचने से पुलिस महकमे में हड़कम्प मच गया। आनन-फानन में पटना पुलिस के बड़े अधिकारी भी थाने पहुँचे। डी०जी०पी० की तरफ से की गई अचानक छापेमारी में थाने के अन्दर कई खामियाँ पाई गई। डी०जी०पी० गुप्तेश्वर पाण्डेय ने इन खामियों को गंभीरता से लेते हुए खामियाजा भरपाई के लिये कार्रवाई भी कर दी।डी०जी०पी० गुप्तेश्वर पाण्डेय ने अपने पहले ही दिन के एक्शन में एस०के० पुरी और गर्दनीबाग के थानेदारों को निलम्बित कर दिया। इसके अलावा उन्होंने ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में दो अन्य पुलिसकर्मियों को भी निलम्बित किया। लगभग एक घण्टे तक डी०जी०पी० दोनों थानों का निरीक्षण करते रहे और अपनी कार्रवाई से उन्होंने पुलिसकर्मियों को यह मैसेज भी दे दिया की ऑन ड्यूटी में जरा भी लापरवाही उन्हें बर्दाश्त नहीं होगी। लॉ एंड ऑर्डर हर हाल में ठीक करना उनके लिए बड़ी चुनौती है और पुलिस के छोटे से लेकर बड़े अधिकारियों को भी यह बात समझ लेनी चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...