गूगल, फेसबुक जैसी ऑनलाइन कंपनियों पर 'डिजिटल कर' की तैयारी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 18 फ़रवरी 2019

गूगल, फेसबुक जैसी ऑनलाइन कंपनियों पर 'डिजिटल कर' की तैयारी

digital-tax-on-googel-facebook
वेलिंगटन, 18 फरवरी, न्यूजीलैंड सरकार ने सोमवार को फेसबुक और गूगल जैसी दिग्गज ऑनलाइन कंपनियों पर नया कर लगाने की योजना की घोषणा की। सरकार का कहना है कि ये ऑनलाइन कंपनियों हमारे देश में काफी पैसा कमाती हैं लेकिन बहुत कम कर देती हैं।  न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अरडर्न ने कहा कि आय और कर के बीच बड़ा अंतर है, जिससे कम करने की जरूरत है। हमारी मौजूदा कर व्यवस्था इस तरह से उचित नहीं है कि वो व्यक्तिगत करदाताओं और बहुराष्ट्रीय कंपनियों के साथ अलग-अलग व्यवहार कर सके। जो कि ठीक नहीं है।"  उन्होंने कहा कि प्रस्तावित डिजिटल सेवा कर के तहत बहुराष्ट्रीय ऑनलाइन कंपनियों को न्यूजीलैंड में अपनी कमाई का लगभग 2 से 3 प्रतिशत कर के रूप में देना होगा। ये कर दरें अन्य देशों के अनुरूप है। राजस्व मंत्री स्टुअर्ट नैश ने कहा कि विदेशी ऑनलाइन कंपनियों को स्थानीय कंपनियों पर प्रतिस्पर्धात्मक लाभ मिला हुआ है। स्थानीय कंपनियां काफी मात्रा में कर का भुगतान करती हैं। उन्होंने कहा कि नया कर अगले साल से लागू होगा।  न्यूजीलैंड सरकार का अनुमान है कि बहुराष्ट्रीय ऑनलाइन कंपनियां हर साल देश में करीब 2.7 अरब न्यूजीलैंड डॉलर (1.9 अरब अमेरिकी डॉलर) का कारोबार करती हैं और नए कर से सरकार को सालाना 8 करोड़ न्यूजीलैंड डॉलर (5.5 करोड़ डॉलर) एकत्र होंगे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...