बिहार : रसोइया आंदोलन को लेकर माले विधायक सत्यदेव राम ने की शिक्षा मंत्री से मुलाकात. - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 7 फ़रवरी 2019

बिहार : रसोइया आंदोलन को लेकर माले विधायक सत्यदेव राम ने की शिक्षा मंत्री से मुलाकात.

शिक्षा मंत्री का सकारात्मक आश्वासन, मुख्यमंत्री से भी होगी वार्ता

mla-satyadev-ram-meet-minister-for-mdm-strikeपटना 7 फरवरी 2019 , भाकपा-माले विधायक काॅ. सत्यदेव राम ने विगत 7 जनवरी से जारी रसोइया संगठनों की हड़ताल के सवाल पर आज बिहार के शिक्षा मंत्री से मुलाकात की. विदित है कि सरकारी कर्मचारी का दर्जा, न्यूनतम 18 हजार रु. मानदेय सहित अन्य सवालों पर बिहार की तकरीबन 2.5 लाख रसोइया एक महीने से हड़ताल पर हैं. शिक्षा मंत्री से वार्ता में माले विधायक ने कहा कि रसोइयों को 1250 रु. का मामूली मानदेय मिलता है और उनसे कई प्रकार के काम करवाए जाते हैं. उनको किसी भी प्रकार की सुरक्षा हासिल नहीं है. 12 महीने काम के बदले महज 10 महीने का मानदेय दिया जाता है और वह भी समय पर नहीं दिया जाता है. 1250 रु. की राशि उनके व उनके परिवार के जीवन यापन के लिए बेहद तुच्छ है तथा यह न्यूनतम मजदूरी कानून का भी घोर उल्लंघन है. कई राज्यों में बिहार की तुलना में रसोइयों को अधिक मानदेय मिलता है. केरल, हरियाणा, त्रिपुरा आदि राज्यों की तरह इस योजना में राज्य का अंश बढ़ाने की आवश्यकता है. लेकिन इसे नहीं किया जा रहा है. हड़ताल की वजह से स्कूलों में मिड डे मील योजना प्रभावित हुई है. इसलिए सरकार से हम इस मामले में तत्काल हस्तक्षेप करते हुए पहलकदमी लेने की मांग करते हैं. शिक्षा मंत्री ने इन सवालों पर सकारात्मक रूख दिखलाते हुए अविलंब हल करने का आश्वासन दिया. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री के साथ जल्द ही इस विषय पर वार्ता आयोजित करवाई जाएगी और हड़ताल समाप्त करवाया जाएगा.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...