बसपा के साथ गठबंधन पर मुलायम अप्रसन्न - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 21 फ़रवरी 2019

बसपा के साथ गठबंधन पर मुलायम अप्रसन्न

mulayam-unhappy-with-sp-bsp-alliance
लखनऊ, 21 फरवरी, सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने बसपा के साथ सपा के गठबंधन पर बृहस्पतिवार को अप्रसन्नता जाहिर की । मुलायम ने सपा मुख्यालय पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि अब उन्होंने :अखिलेश यादव: मायावती के साथ आधी सीटों पर गठबंधन किया है । आधी सीटें देने का आधार क्या है ? ‘‘अब हमारे पास केवल आधी सीटें रह गयी हैं । हमारी पार्टी कहीं अधिक दमदार है । ’’  उन्होंने कहा कि हम सशक्त हैं लेकिन हमारे लोग पार्टी को कमजोर कर रहे हैं । हमने कितनी सशक्त पार्टी बनायी थी और 'मैं मुख्यमंत्री बना और रक्षा मंत्री भी बना ।'  मुलायम ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वे लोकसभा चुनाव में टिकट के लिए उन्हें आवेदन दें । उन्होंने कहा, 'आपमें से कितनों ने मुझे आवेदन दिया ? किसी ने नहीं ... तब टिकट कैसे पाओगे ? अखिलेश टिकट देंगे लेकिन मैं उसे बदल सकता हूं ।'  भाजपा की प्रशंसा करते हुए मुलायम ने कहा कि भाजपा की चुनावी तैयारी बेहतर है । सपा प्रत्याशियों के नाम जल्द घोषित होने चाहिए ताकि वे अपने क्षेत्र में जाकर जमीनी कार्य कर सकें । मुलायम ने बीते दिनों लोकसभा में यह बयान देकर राजनीतिक हलकों में सरगर्मी तेज कर दी थी कि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बधाई देना चाहते हैं क्योंकि उन्होंने हर किसी को साथ लेकर चलने का प्रयास किया । 'मुझे आशा है कि सभी सदस्य जीतेंगे और वापस आएंगे और आप :मोदी: फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे ।'  मुलायम के पुत्र अखिलेश यादव ने कभी सपा की धुर विरोधी रही बसपा के साथ गठबंधन किया है । दोनों ही दल 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ने पर राजी हुए हैं ।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...