मानवाधिकार आयोग ने पुलवामा हमले की निंदा की - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 19 फ़रवरी 2019

मानवाधिकार आयोग ने पुलवामा हमले की निंदा की

nhrc-condemn-pulwama-attack
नयी दिल्ली, 19 फरवरी, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने पुलवामा आतंकी हमले की निंदा करते हुए कहा है कि ‘‘आतंकवाद का अभिशाप’’ समाज में मानव अधिकारों के उल्लंघन के प्रमुख कारकों में से एक है। एनएचआरसी ने कहा कि आशा है कि कानून-व्यवस्था बनाए रखने और अमन-चैन का माहौल बनाने के लिए सीआरपीएफ के जवानों के सर्वोच्च बलिदान को याद रखा जाएगा और शोकसंतप्त परिवारों को उचित मुआवजा मिलेगा। बयान में कहा गया कि एनएचआरसी आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवानों की मौत पर व्यथित है और घटना की निंदा करता है। आयोग ने कहा कि आतंकवाद का अभिशाप हमारे समाज में मानवाधिकारों के उल्लंघन के प्रमुख कारकों में एक है ।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...