विपक्ष की बैठक में प्रमुख मुद्दा रहेगा पुलवामा हमला और सर्जिकल स्ट्राइक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 26 फ़रवरी 2019

विपक्ष की बैठक में प्रमुख मुद्दा रहेगा पुलवामा हमला और सर्जिकल स्ट्राइक

oppn-to-meet-to-counter-modi-from-using-air-strike-as-poll-issue
नयी दिल्ली 26 फरवरी,  केंद्र की नरेंद्र मोदी नीत सरकार के खिलाफ रणनीतियों पर विचार के लिए बुधवार को यहां विपक्षी दलों की आयोजित बैठक में पुलवामा हमला और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर(पीओके) में आतंकी ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक भी एक प्रमुख मुद्दा होगा। इससे पहले गत 13 फरवरी को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी , आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तथा अन्य विपक्षी नेताओं ने पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद पवार के दिल्ली स्थित आवास पर बैठक की थी आैर भावी रणनीति पर चर्चा के लिए 27 फरवरी को बैठक बुलाने का निर्णय लिया था। यह बैठक राष्ट्रीय स्तर पर चुनाव पूर्व गठबंधन बनाने तथा विपक्षी दलों के बीच न्यूनतम साझा कार्यक्रम तय किये जाने के संबंध में चर्चा के लिए बुलाई गयी है। एक विपक्षी नेता ने कहा, “ पुलवामा हमले और भाारतीय वायुसेना की आज की कार्रवाई के बाद तस्वीर बदली है। अब ऐसी संभावना है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और श्री मोदी वोट के लिए इस मुद्दे को भुना सकते हैं। इसलिए हम कल की बैठक में यह मुद्दा महत्वपूर्ण रहेगा।” विपक्षी दलों की बुधवार को बैठक के परिप्रेक्ष्य में यह तथ्य भी ध्यानयोग्य है कि वाम दल भी इसमें शामिल होने पर विचार कर रहे हैं जिससे बैठक के एजेंडे में बदलाव आया है। इससे पहले प्राप्त रिपोर्टों मे कहा गया था कि यह बैठक चुनाव-पूर्व गठबंधन के लिए बुलाई गयी है और इसलिए वाम दल इसमें भाग नहीं लेंगे। सूत्रों ने यह भी बताया कि कांग्रेस ने पीओके में भारतीय वायुसेना की कार्रवाई का हवाला देते हुए बुधवार को आयोजित बैठक स्थगित किये जाने की सलाह दी है , हालांकि राज्यों से आये अन्य नेता बैठक टालने के पक्ष में नहीं है। वरिष्ठ विपक्षी नेताओं के मुताबिक बैठक में बेराेजगारी, कृषि संकट और राफेल के साथ ही चुनावी मुद्दों पर मंत्रणा की जायेगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...