पाकिस्तान ने चौकियों पर भारी गोलाबारी की, भारत ने दिया करारा जवाब - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 28 फ़रवरी 2019

पाकिस्तान ने चौकियों पर भारी गोलाबारी की, भारत ने दिया करारा जवाब

pakistan-firing-on-border
जम्मू, 28 फरवरी, पाकिस्तानी सेना ने बृहस्पतिवार को जम्मू-कश्मीर के पुंछ और राजौरी जिलों में नियंत्रण रेखा के पास अग्रिम चौकियों पर भारी गोलाबारी कर फिर से संघर्षविराम का उल्लंघन किया, जिसका भारतीय सेना ने करारा जवाब दिया। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। यह लगातार सातवां दिन है जब पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा के पास अग्रिम चौकियों को निशाना बनाकर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है। अधिकारियों ने बताया कि नौशेरा और कृष्णा घाटी सेक्टर में पाकिस्तान ने फिर संघर्षविराम का उल्लंघन किया है। उन्होंने दिन में अभी तक तीन बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है।  रक्षा विभाग के पीआरओ ने कहा, ‘‘पाकिस्तान सेना ने राजौरी के नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास बृहस्पतिवार को दोपहर बाद करीब 2.14 बजे अकारण ही मोर्टार दागने के साथ गोलाबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया।’’  उन्होंने बताया कि इससे पहले दोपहर के करीब एक बजे कृष्णा घाटी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तानी सेना ने गोलाबारी की थी। अधिकारी ने कहा, ‘‘भारतीय सेना ने जोरदार और प्रभावी ढंग से जवाबी कार्रवाई की।’’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सेना ने कृष्णा घाटी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास बृहस्पतिवार को सुबह लगभग छह बजे अकारण ही मोर्टार दागने के साथ गोलाबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था।  मौजूदा स्थिति को देखते हुए, अधिकारियों ने राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा के पास 5 किलोमीटर के दायरे में शैक्षणिक संस्थानों को अस्थायी रूप से बंद करने का आदेश दिया है।  पाकिस्तान द्वारा की गई गोलाबारी के मद्देनजर सीमा से सटे इलाकों के निवासियों को अपने घरों के अंदर रहने और बाहर नहीं निकलने के लिए कहा गया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...