तृणमूल के हंगामें के कारण नहीं चली संसद - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 4 फ़रवरी 2019

तृणमूल के हंगामें के कारण नहीं चली संसद

parliament-did-not-run-due-to-trinamool-rusk
नयी दिल्ली, 04 फरवरी, पश्चिम बंगाल में शारदा चिटफंड घोटाले के मामले में केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की कार्रवाई को लेकर आज संसद में जबरदस्त हंगामा हुआ जिसके कारण दोनों सदनों में कोई कामकाज नहीं हुआ। लोकसभा और राज्यसभा में इस मुद्दे को लेकर न तो प्रश्नकाल हुआ और ना ही शून्यकाल हुआ। भोजनावकाश के बाद दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा शुरू होनी थी लेकिन विपक्ष के हंगामे के कारण चर्चा शुरू नहीं हो सकी और कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी गयी। दो बार के स्थगन के बाद दोपहर दो बजे जैसे ही लोकसभा की कार्यवाही शुरु हुई तो तृणमूल कांग्रेस, कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल सहित कई विपक्षी दलों के सदस्यों ने आसन के सामने आकर पहले की तरह ही हंगामा शुरू कर दिया। ये सदस्य ‘सीबीआई तोता है तथा चौकीदार चोर है’ के नारे लगा रहे थे। कांग्रेस के सदस्य राफेल को लेकर हाथ में तख्तियां लिए हंगामा कर रहे थे। इस बीच संसदीय कार्यमंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने सदस्यों आग्रह किया कि राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा करनी है इसलिए सभी सदस्य अपनी सीट पर चले जाएं। श्रीमती महाजन ने भी सदस्यों से धन्यवाद प्रस्ताव पर होने वाली चर्चा में शामिल होने का आग्रह किया और कहा कि इस तरह हंगामा करने से कुछ नहीं होगा। उन्होंने बार बार सदस्यों से अपनी सीट पर जाने के लिए कहा लेकिन हंगामा तेज होता गया जिसके कारण उन्होंने सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...